जदयू नेता की हत्या में सीसीटीवी फुटेज के सहारे अपराधियों तक पहुंचने में जुटी भोजपुर  पुलिस
जदयू नेता की हत्या में सीसीटीवी फुटेज के सहारे अपराधियों तक पहुंचने में जुटी भोजपुर पुलिस
बिहार

जदयू नेता की हत्या में सीसीटीवी फुटेज के सहारे अपराधियों तक पहुंचने में जुटी भोजपुर पुलिस

news

आरा,28 सितम्बर(हि. स)।भोजपुर जिले के आरा शहरी क्षेत्र के जगदेवनगर दुर्गा मंदिर के समीप बीते शाम यूथ जनतादल यूनाइटेड के राष्ट्रीय सचिव प्रिंस सिंह बजरंगी और उनके मित्र जनतादल यूनाइटेड कार्यकर्ता मिथुन सिंह को गोली मारे जाने के मामले जिले की राजनीति गरमा गई है। आरा के नवादा थाना क्षेत्र के जगदेवनगर इलाके में अपराधियों के तांडव से लोग सहमे हुए हैं।इस घटना में मिथुन सिंह की हत्या कर दी गई है जबकि प्रिंस सिंह बजरंगी पटना के एक बड़े और निजी अस्पताल में जीवन और मौत से लड़ रहे हैं। जदयू के नेताओ की हत्या में पुलिस की लापरवाही सामने आ रही है। दोनो नेताओ ने अपने ऊपर खतरे की संभावना को ले पुलिस से आशंका जताई थी और सुरक्षा की मांग की थी। पुलिस ने नेताओ की मांग को अनसुना कर दिया और रविवार की शाम मिथुन सिंह की हत्या हो गई। अपराधियो ने मिथुन सिंह को चार गोली मारी जबकि प्रिंस सिंह को दो गोलियां लगी है। बताया जाता है कि दोनों ही नेताओ की हत्या में एक बड़े अपराधी गिरोह का हाथ है। मिथुन सिंह जमीन की खरीद बिक्री के कार्यो से जुड़े हुए थे और उनका अदावत एक बड़े अपराधी गिरोह से चल रहा था। उनकी हत्या की साजिश आरा जेल से रचे जाने की खबर मिलते ही उन्होंने पुलिस से सुरक्षा की गुहार लगाई थी। उधर युवा जदयू के राष्ट्रीय सचिव प्रिंस सिंह ने भी खतरे की आशंका को लेकर भोजपुर पुलिस से सुरक्षा की मांग की थी। जदयू के जिलाध्यक्ष अशोक शर्मा ने अपराधियो को अविलंब गिरफ्तार करने की मांग की है। भाकपा माले नेता और वार्ड पार्षद अमित कुमार बंटी ने भी जदयू नेताओ के हमलावरों और अपराधियों को गिरफ्तार करने की मांग की है। बढ़ते राजनैतिक और सामाजिक दबाव के बाद सोमवार की सुबह से नवादा थाना की पुलिस घटनास्थल के आसपास के सीसीटीवी फुटेज खंगालने में लगी है। सभी अपराधी सीसीटीवी में नकाब पहन कर फायरिंग करने के बाद एक गली से भागते दिखाई दे रहे हैं। पुलिस हत्यारो तक पहुंचने की कोशिश में दिनभर जुटी रही। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/चंदा-hindusthansamachar.in