गोपालगंज जिले की सीमाओं पर सीसीटीवी कैमरों से पुलिस करेगी चौकसी,  बदमाशों की धरपकड़ तेज
गोपालगंज जिले की सीमाओं पर सीसीटीवी कैमरों से पुलिस करेगी चौकसी, बदमाशों की धरपकड़ तेज
बिहार

गोपालगंज जिले की सीमाओं पर सीसीटीवी कैमरों से पुलिस करेगी चौकसी, बदमाशों की धरपकड़ तेज

news

गोपालगंज,27 अक्टूबर (हि.स.)। तीन नवंबर की तिथि जैसे जैसे नजदीक आ रही है,वैसे—वैसे गोपालगंज में जिला प्रशासनिक अधिकारी शांतिपूर्ण मतदान कराने को लेकर अधिकारियों के साथ बैठक करने में जुटे हुए हैं। यूपी से सटे जिले की सीमाओं पर सीसीटीवी कैमरों से पुलिस निगरानी करेगी। इसके साथ ही विधानसभा चुनाव को प्रभावित करने वाले बदमाशों की धरपकड़ भी पुलिस ने तेज कर दी है। इसके लिए चेक बैरियर पर कैमरा लगाने का कार्य पूरा कर लिया गया है। वैसे चेक प्वाइंट जहां सीसी कैमरे की व्यवस्था नहीं है, वहां वीडियोग्राफी टीम लगातार निगरानी करने में लगी है, ताकि सीमावर्ती इलाकों की गतिविधि पर लगातार नजर रखी जा सके। उतर प्रदेश की सीमा से लगे 7 थानों के 31 गांवों की सीमाएं जिले से जुड़ी हुई हैं। मतदान के समय अक्सर सीमा के गांवों में गड़बड़ी करने वाले अपना डेरा जमाते हैं लेकिन इस बार पुलिस प्रशासन की सीमा पर विशेष निगाहें रहेंगी। जगह-जगह बैरियर लगवाने के साथ ही सघन जांच व तलाशी की जायेगी। सबसे ज्यादा विजयीपुर थाने में 8 गांवों में बैरियर लगाए जाएंगे। इसके बाद भोरे थाना के 7, कटेया थाना के 5,गोपालपुर थाना के 5, विशम्भरपुर थाना के 3, कुचायकोट थाना के 3 और यादोपुर थाना का 1 गांव यूपी की सीमा से सटा हुआ है। विधानसभा चुनाव बिहार में हो रहे हैं, लेकिन यूपी पुलिस ने गोपालगंज व सीवान के आला अधिकारियों के साथ बैठक कर अपनी तरफ से सूबे की सीमा पर नजर रखने की तैयारियां पूरी कर लेने की बात बताई। यूपी-बिहार बॉर्डर पर यूपी पुलिस का खुफिया विभाग पैनी नजर रखेगा। जानकारी के अनुसार यूपी के गोरखपुर परिक्षेत्र के आईजी ने इंटेलिजेंस डिपार्टमेंट की पॉलिटिकल यूनिट को सतर्कता से काम करने का निर्देश दिया है। निर्देश में कहा गया है कि इस यूनिट को किसी भी तरह की संवेदनशील सूचना मिलती है, तो उसे यूपी पुलिस के आला अधिकारियों के साथ-साथ तत्काल बिहार पुलिस के अधिकारियों से साझा करे। इस मामले में अधिकारियों को कोई कोताही न बरतने के निर्देश दिए हैं, ताकि समय रहते किसी भी अनहोनी को रोकने के लिए एहतियाती कदम उठाए जा सकें। उत्तर प्रदेश के सीमावर्ती इलाकों के रास्ते मतदान के दौरान जिले में अशांति फैलाने की संभावनाओं को देखते हुए जिला निर्वाचन पदाधिकारी अरशद अजीज ने कहा कि चेक प्वाइंट पर कैमरों से निगरानी रखने का निर्देश जारी किया गया है। इसके तहत हाईवे पर स्थित बलथरी चेकपोस्ट पर सीसी कैमरा लगाने का कार्य पूर्ण कर लिया गया है। अलावा इसके कई अन्य स्थानों पर कैमरे लगाए गए हैं। शराब लेकर जिले की सीमा में प्रवेश करने वालों तथा अधिक पैसा लेकर चलने वालों की भी निगरानी और सख्ती से की जा रही है। अभी तक लगभग 10 लाख रुपए नगद बरामद किए गए है जिसकी जांच चल रही है। चेक प्वाइंट व चेक बैरियर की निगरानी के लिए तैनात किए गए स्टैटिक सर्विलांस टीम के पदाधिकारियों को चुनाव की अधिसूचना जारी होने के पूर्व से ही सीमावर्ती इलाकों में तैनात किया जा चुका है। जिले के 4 प्रखंडों के गांव यूपी के सीमा से सटा हुए हैं। यूपी की सीमा से लगे जादोपुर थाना क्षेत्र के भसहीं बांध पर, कुचायकोट थाना क्षेत्र के बथना कुटी, मैरवा कर्ण नहर, बरवां वृत तीन मोहानी तथा पकड़ी में, विश्वंभरपुर थाना क्षेत्र के हितपट्टी, दानचक सारण तटबंध तथा सल्लेहपुर, गोपालपुर थाना क्षेत्र के संगवाडीह, जीरो आरडी, सुखदेव पट्टी, कोटनरहवां तथा नरहवां शुक्ल, भोरे थाना के पाखोपाली, खोरही बार्डर, बोधिया, मिश्रौली, भोपतपुरा, कावे तथा जगतौली, कटेया थाना के पकहां, रानीपुर, भागीपटी, कोईसा खुर्द व सुखसेनवा तथा विजयीपुर थाना के धुसवा, विशनपुरा, पगरा, दिघवा, बिलरुआ, सुअरहां, चखनी घाट तथा हाहा पुल पर चेक प्वांइट बनाए गए हैं। हिन्दुस्थान समाचार/अखिला/हिमांशु शेखर/विभाकर-hindusthansamachar.in