गया में तीस साल बनाम पंद्रह साल बना चर्चा का विषय
गया में तीस साल बनाम पंद्रह साल बना चर्चा का विषय
बिहार

गया में तीस साल बनाम पंद्रह साल बना चर्चा का विषय

news

गया, 15 अक्टूबर (हि.स.) । गया शहरी विधानसभा चुनाव क्षेत्र में इन दिनों मतदाताओं के बीच 30 साल बनाम 15 साल का कार्यकाल चर्चा का विषय बना हुआ है। गैर-राजनीतिक और चुनावी प्रक्रिया से दूर-दूर तक सीधा संबंध नहीं रखने वाले व्यवसायियों के सशक्त संगठन सेंट्रल बिहार चैम्बर ऑफ कॉमर्स के कई पदधारक पहली बार खुलकर बैठक कर रहे हैं। जहां से यह संदेश देने का प्रयास किया जा रहा है कि अमुक दल के अमुक प्रत्याशी को विजयश्री दिलानी है। गया शहरी विधानसभा चुनाव क्षेत्र से वैसे तो दो दर्जन उम्मीदवार हैं लेकिन पिछले तीस सालों से गया शहर के विधायक डा. प्रेम कुमार और पंद्रह साल से नगर निगम में बतौर उप मेयर और वार्ड पार्षद रहे अखौरी ओंकार नाथ श्रीवास्तव उर्फ मोहन श्रीवास्तव का कार्यकाल मतदाताओं के बीच चर्चा और बहस का मुद्दा बना हुआ है। भाजपा प्रत्याशी डा. प्रेम कुमार के पक्ष में एक बात प्रमुख है कि जनसंघ से लेकर भाजपा तक के सफर में गया शहरी विधानसभा चुनाव क्षेत्र भाजपा का परंपरागत और सशक्त आधार क्षेत्र रहा है। लेकिन भाजपा की जो सबसे बड़ी कमी है वह शहरी क्षेत्र में संगठन में प्रेम कुमार के साथ वैचारिक मतभेद वाले नेताओं और कार्यकर्ताओं की उपेक्षा।प्रेम कुमार के खिलाफ एंटी इनकंबेंसी फैक्टर का मुद्दा गहराता जा रहा है। मोहन श्रीवास्तव के कार्यकाल में नगर निगम में व्याप्त भ्रष्टाचार और गया नगर निगम को केंद्र सरकार की रैंकिंग में बहुत खराब रेटिंग की भाजपा और डा प्रेम कुमार के समर्थक लोगों के बीच जाकर चर्चा कर रहे हैं। दूसरी ओर कायस्थ परिवार के विभिन्न संगठनों का मोहन श्रीवास्तव के पक्ष में बैठक करना प्रेम कुमार के खेमे को रास नहीं आ रहा है। भाजपा ने इसकी काट के लिए इस बार सेंट्रल बिहार चैम्बर ऑफ कॉमर्स को सामने ला खड़ा किया है। चैंबर के अध्यक्ष संजय भारद्वाज के शहर के कटारी हिल्स रोड स्थित आवास पर बुधवार की रात बैठक बुलाई गई जहां चैंबर के कई पदाधिकारी उपस्थित थे। तीस साल के कार्यकाल में दुखी और बात-बात में कमियां ढूंढने वालों ने प्रेम कुमार से कई सवाल पूछे।मन की भड़ास निकालने के बाद व्यवसायी नेताओं ने प्रेम कुमार से कहा कि वोटरों को बूथ तक कैसे पहुंचाएंगे? इस पर रणनीति बनाएं क्योंकि कांग्रेस प्रत्याशी मोहन श्रीवास्तव डोर-टू-डोर जनसंपर्क अभियान में नजर आ रहे हैं । सेंट्रल बिहार चैम्बर ऑफ कॉमर्स के कई पूर्व अध्यक्षों और महासचिवों ने हर दो दिन पर किसी के घर पर बैठकर प्रेम जी के लिए कुछ करने को ठानी है। इस संबंध में अध्यक्ष संजय भारद्वाज ने पूछे जाने पर बताया कि कोई औपचारिक बैठक नहीं हुई है। भाजपा प्रत्याशी प्रेम कुमार घर पर आए थे।संयोग था कि उस समय कई व्यवसायी नेता मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/पंकज कुमार/विभाकर-hindusthansamachar.in