कोरोना काल में परीक्षा आयोजित कराने वाला टीएमबीयू बना बिहार का पहला विश्वविद्यालय
कोरोना काल में परीक्षा आयोजित कराने वाला टीएमबीयू बना बिहार का पहला विश्वविद्यालय
बिहार

कोरोना काल में परीक्षा आयोजित कराने वाला टीएमबीयू बना बिहार का पहला विश्वविद्यालय

news

भागलपुर, 26 सितंबर (हि.स.)। कोरोना संक्रमण के दौरान परीक्षा का आयोजन कराने वाले विश्वविद्यालयों में टीएमबीयू बिहार का पहला विश्वविद्यालय बना। विश्वविद्यालय पीआरओ डॉ. दीपक कुमार दिनकर ने बताया कि तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय प्रशासन ने विभिन्न परीक्षाओं के आयोजन को लेकर कुलपति डॉ. अजय कुमार सिंह के निर्देश पर पहल शुरू कर दी है। बुधवार को विश्वविद्यालय परिसर स्थित पीएनए साइंस कॉलेज में बीसीए फर्स्ट सेमेस्टर की परीक्षा शुरू हुई। पहले दिन कम्प्यूटर फंडामेंटल की परीक्षा हुई जिसमें 330 परीक्षार्थी शामिल हुए, जबकि 10 छात्र अनुपस्थित रहे। मालूम हो कि बीसीए की परीक्षा के लिए कुल 340 परीक्षार्थियों के लिए पीएनए साइंस कॉलेज को परीक्षा केंद्र बनाया गया है। पहले दिन शांतिपूर्ण वातावरण में कदाचारमुक्त परीक्षा आयोजित हुई। बुधवार को बीसीए की परीक्षा के पहले दिन टीएमबीयू के कुलपति डॉ. अजय कुमार सिंह ने विश्वविद्यालय अधिकारियों के साथ परीक्षा केंद्र का औचक निरीक्षण किया। मौके पर कुलपति डॉ. सिंह ने परीक्षा केंद्र के सभी कमरों में चल रहे परीक्षा का जायजा लिया। कुलपति ने परीक्षा की व्यवस्था को देखकर प्रसन्नता जाहिर की। उन्होंने परीक्षा समन्वयक डॉ. अशोक ठाकुर एवं परीक्षा नियंत्रक से परीक्षा के आयोजन को लेकर विस्तृत जानकारी भी ली। कुलपति ने तकरीबन पच्चीस मिनट तक परीक्षा केंद्र का निरीक्षण किया। परीक्षा के दौरान कोविड-19 को लेकर राज्य सरकार के निर्देशों और गाइडलाइन का सख्ती से पालन किया गया। परीक्षार्थियों को कॉलेज के मुख्य द्वार पर ही हैंड सेनिटाइज कराकर और शरीर का तापमान मापकर ही परीक्षा केंद्र के अंदर प्रवेश दिया गया। इस दौरान सोशल डिस्टेंसिग का भी अक्षरशः पालन किया गया। परीक्षा के दौरान एक बेंच पर केवल दो ही परीक्षार्थियों को बैठाया गया। मास्क पहनकर छात्रों ने परीक्षा दी। निरीक्षण के क्रम में कुलपति के साथ परीक्षा समन्वयक व साइंस डीन डॉ. अशोक ठाकुर, एफए पद्मकान्त झा, रजिस्ट्रार कर्नल एके सिंह, परीक्षा नियंत्रक डॉ. अरुण सिंह, एफओ एसएस अम्बष्ठ, पीआरओ डॉ दीपक कुमार दिनकर, केंद्राधीक्षक डॉ. मो. फिरोज आलम, प्राचार्य पारस कुमार मणि आदि मौजूद थे। परीक्षा के आयोजन में कॉलेज के शिक्षक प्रो. आशीष, प्रो. दीनबन्धु कुमार, कल्याणी कुमारी, सोनी कुमारी सहित सभी शिक्षकों और कर्मियों की सक्रिय भूमिका रही। हिन्दुस्थान समाचार/बिजय/हिमांशु शेखर/विभाकर-hindusthansamachar.in