आजिज आकर ग्रामीणों ने जर्जर  सड़क पर की धान की रोपनी
आजिज आकर ग्रामीणों ने जर्जर सड़क पर की धान की रोपनी
बिहार

आजिज आकर ग्रामीणों ने जर्जर सड़क पर की धान की रोपनी

news

बेगूसराय, 24 जुलाई (हि.स.)। बेगूसराय सदर प्रखंड के वासुदेवपुर गांव में सड़क की जर्जर स्थिति से तंग आकर अच्छी वर्षा होते ही शुक्रवार को ग्रामीणों ने मिलकर सड़क पर ही धान की रोपनी कर विरोध जताया है। धान की रोपनी कर रहे ग्रामीणों ने बताया कि एसएच-55 के कोरिया चौक से वासुदेवपुर आसोबाली ढ़ाला तक की ग्रामीण सड़क तीन किलोमीटर तक बांध होकर जाती है जबकि बांध से होकर डेढ़ किलोमीटर जाने के बाद मुख्य सड़क दो भागों में बंट जाती है। लगभग दो किलोमीटर गांव के अंदर से होकर गुजरते हुए आसोबाली ढ़ाला के पास पुनः दोनों मिल जाती है। कुल मिलाकर सड़क की लंबाई पांच किलोमीटर हो जाती है। इस सड़क से वासुदेवपुर, चांदपुरा, हैवतपुर, कोरिया आदि गांव के हजारों लोग आते-जाते हैं। लेकिन पिछले 20 वर्षों से इस जर्जर सड़क के रख-रखाव पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है। एक ओर सड़क की हालत इतनी जर्जर है कि पैदल चलना भी मुश्किल है। दूसरे तरफ बांध के दाएं ओर बूढ़ी गंडक का पानी भरा है। जिसके कारण ग्रामीणों ने मिलकर निर्णय लिया है कि इस बार चुनाव में नेताओं को गांव में नहीं आने दिया जाएगा। जर्जर सड़क से आने पर नेताओं के दुर्घटनाग्रस्त होने की प्रबल आशंका है। प्रत्येक पांच साल में साढ़े चार साल जनता की नजरों से दूर रहने वाले नेताओं की चुनाव के समय जान बचाना हम ग्रामीणों का कर्तव्य है, तभी तो वह फिर से चुनाव जीत कर भ्रष्टाचार की गंगोत्री में डुबकी लगाएंगे। विनय कुमार, राहुल कुमार, ऋषभ कुमार समेत अन्य ग्रामीणों ने बताया कि मुख्य प्रवेश द्वार पर पोस्टर और बेरियर लगाने का निर्णय भी लिया है। हिन्दुस्थान समाचार/सुरेन्द्र/विभाकर-hindusthansamachar.in