आखिरी चरण के मतदान से पहले थमा चुनाव प्रचार का शोर
आखिरी चरण के मतदान से पहले थमा चुनाव प्रचार का शोर
बिहार

आखिरी चरण के मतदान से पहले थमा चुनाव प्रचार का शोर

news

15 जिलों की 78 सीटों पर होगा 1204 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला बिहार सरकार के दर्जनभर मंत्रियों की किस्मत भी लिखेंगे राज्य के 2.36 करोड़ मतदाता बिहार विधानसभा अध्यक्ष विजय चौधरी भी चुनाव मैदान में पटना, 05 नवम्बर (हि.स.) । बिहार विधानसभा चुनाव के तीसरे और आखिरी चरण का प्रचार शुक्रवार की शाम खत्म हो गया। सभी दलों ने प्रचार के आखिरी दिन पूरी ताकत झोंक दी। अंतिम चरण के मतदान में राज्य के 15 जिले के 78 विधानसभा क्षेत्रों में 7 नवम्बर को वोट डाले जाएंगे। वाल्मीकिनगर लोकसभा सीट के लिए होने वाले उपचुनाव के लिए भी मतदान 7 नवंबर को ही संपन्न होगा। बिहार चुनाव के आखिरी चरण में कुल 1204 उम्मीदवारों की किस्मत भी दांव पर लगी हुई है। इनमें 1094 पुरुष और 110 महिला प्रत्याशी शामिल हैं। आखरी दौर के इस युद्ध में कुल दो करोड़, 35 लाख, 54 हजार, 71 मतदाता इन उम्मीदवारों की किस्मत का फैसला करेंगे। तीसरे और अंतिम चरण के मतदान में नीतीश कुमार सरकार के मंत्रिमंडल के कुल 12 मंत्रियों के साथ बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार चौधरी के भी भाग्य का फैसला होगा। वर्तमान में नीतीश सरकार के मंत्रिमंडल में कुल 31 मंत्रियों में 26 विधानसभा के सदस्य हैं, जिनमें 24 चुनाव लड़ रहे हैं। दो सदस्यों की मृत्यु के बाद उनके परिजन मैदान में हैं और बाकी बचे पांच मंत्रियों की सूची में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, भवन निर्माण मंत्री अशोक चौधरी और सूचना जनसंपर्क मंत्री नीरज कुमार विधान परिषद के सदस्य हैं। पहले चरण में 8 मंत्री तो दूसरे चरण में चार मंत्री चुनावी मैदान में थे और अब तीसरे चरण में 12 मंत्री चुनाव लड़ रहे हैं। इसमें जदयू के सबसे अधिक आठ और भाजपा के चार मंत्री शामिल हैं। जदयू कोटे के मंत्री जो तीसरे चरण में हैं, उनमें सुपौल से बिजेंद्र प्रसाद यादव, मधेपुरा के आलमनगर से नरेंद्र नारायण यादव, सिंघेश्वर (सु.) से रमेश ऋषिदेव, सिकटा से खुर्शीद उर्फ फिरोज अहमद, लौकहा से लक्ष्मेश्वर राय, रूपौली से बीमा भारती, दरभंगा जिले के बहादुरपुर से मदन सहनी और कल्याणपुर (सु.) सीट से महेश्वर हजारी चुनाव लड़ रहे हैं। वहीं, भाजपा कोटे के मंत्रियों में मुजफ्फरपुर से सुरेश शर्मा, मोतिहारी से प्रमोद कुमार, मधुबनी के बनमनखी से कृष्ण कुमार ऋषि और बेनीपट्टी से विनोद नारायण झा की किस्मत दांव पर लगी है। इनके अलाव दिवंगत मंत्री विनोद सिंह की पत्नी निशा सिंह कटिहार के प्राणपुर से और कपिलदेव कामत की बहू मीना कामत मधुबनी जिले के बाबूबरही विधानसभा क्षेत्र से भाजपा और जदयू के टिकट पर अपनी किस्मत आजमा रही हैं। वहीं, महागठबंधन के भी वरिष्ठ नेता अब्दुलबारी सिद्दीकी, रमई राम की किस्मत का भी फैसला होगा। किस पार्टी के कितने उम्मीदवार इस अंतिम चरण के मतदान में राजद के सबसे अधिक 46, कांग्रेस के 25, भाकपा माले के 5, जदयू के 37, भाजपा के 35, वीआईपी के 5 और हम के एक प्रत्याशी मैदान में हैं। इन सीटों पर होंगे मतदान इन जिलों के वाल्मिकीनगर, रामनगर, नरकटियागंज, बगहा, लौरिया, सिकटा, रक्सौल, सुगौली, नरकटिया, मोतिहारी, चिरैरिया, ढाका, रीगा, बाथना, परिहार, सुशंद, बाजपत्ती, हरलाखी, बेनीपट्टी, खलौजी, बिस्फी, लौकाहा, निर्माली, पिपरा, सुपौल, त्रिवेणीनगर, छत्तापुर, नरपतगंज, रानीगंज, फारबिसगंज, अररिया, जोकीहाट, सिकटी, बहादुरगंज, ठाकुरगंज, किशनगंज, कोचंदमन, अमौर, बैसी, कस्बा, बनमनखी, रुपौली, धमांदा, पूर्णिया, कटिहार, कदवा, बलरामपुर, प्राणपुर, मणिहारी, बरारी, कोरहा, आलमगनर, बिहारीगंज, सिंघेश्वर, मधेपुरा, सोनबरसा, सहरसा, सिमरी बख्तियारपुर, महिषी, दरभंगा, हयाघाट, बहादुरपुर, केवटी, जाले, गायघाट, औराई, बोछन, सकरा, कुढ़नी, मुजफ्फरपुर, महुआ, पातेपुर, कल्याणपुर, वारिसनगर, समस्तीपुर, मोरवा, सरायरंजन में मतदान होंगे. हिन्दुस्थान समाचार/राजीव रंजन /विभाकर-hindusthansamachar.in