workshop-on-river-tourism-organized-in-pandu-port-campus
workshop-on-river-tourism-organized-in-pandu-port-campus
असम

पांडू पोर्ट परिसर में नदी पर्यटन पर कार्यशाला आयोजित

news

गुवाहाटी, 22 फरवारी (हि.स.)। नदी पर्यटन को आगे बढ़ाने के लिए व स्थानीय पर्यटन संभावनाओं को चिह्नित करने के लिए सोमवार को पांडु पोर्ट पर चराईदेव पांडू (आईडब्ल्यूएआई) गुवाहाटी जहाज़ पर एक कार्यशाला आयोजित किया गया। यह कार्यशाला इंडिया टूरिज्म गुवाहाटी द्वारा आयोजित किया गया। जिसमें नदी पर्यटन को आगे बढ़ाना, पर्यावरण को स्वच्छ रखना, आर्थिक व सामाजिक आदि विभिन्न विषय पर विस्तृत रूप से चर्चा किया गया है। कार्यशाला में इंडिया टूरिज्म नॉर्थ ईस्ट के रिजनल डायरेक्टर एसएस देव बर्मन, इनलैंड वॉटर अथॉरिटी ऑफ इंडिया के डायरेक्टर सुरेंद्र सिंह, ईस्ट इंडिया ट्रैवेल के संजय ठाकुर, एबीएन के कार्यकारी निदेशक निर्मल चौधरी, आईएचएम के अमिताभ दे, ताज विवांता के जनरल मैनेजर जयंत दास आदि उपास्थित थे। इस संदर्भ में शंख शुभ्र देबनाथ ने कहा कि कोरोना काल में पर्यटक भीड़- भाड़ स्थलों की अपेक्षा नए और शांत वातावरण में जाना पसंद कर रहे हैं। ऐसे में अनुपम प्राकृतिक सौंदर्य से ओतप्रोत क्षेत्र असम पर्यटकों को लुभा रहा है। ब्रह्मपुत्र नद असम की जीवन रेखा है। प्राकृतिक, पौराणिक व ऐतिहासिक धरोहर से समृद्ध असम के पर्यटन की लोकप्रियता तेजी से बढ़ रही है। कोरोना के चलते लंबे लॉकडाउन के कारण पर्यटन उद्योग पर गंभीर असर पड़ा है। लेकिन, अब धीरे-धीरे सब स्वाभाविक होने लगा है। इस कार्यशाला में नदी पर्यटन पर जोर दिया गया। वक्ताओं ने कहा कि इस क्षेत्र के जरिए स्थानीय लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है। साथ ही पर्यावरण स्वच्छता पर भी जोर दिया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/ देबोजानी/ अरविंद

AD
AD