पूसीरे कोविड केयर कोचों के साथ राज्यों की सहायता के लिए तैयार

पूसीरे कोविड केयर कोचों के साथ राज्यों की सहायता के लिए तैयार
poosere-ready-to-assist-states-with-covid-care-coaches

गुवाहाटी, 27 अप्रैल (हि.स.) । पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (पूसीरे) कोविड-19 महामारी की स्थिति के कारण अस्पतालों में बेड की बढ़ती जरूरतों को पूरा करने के लिए संबंधित राज्य सरकारों से प्राप्त अनुरोध पर कोविड केयर कोचों के प्रावधान के साथ अपने क्षेत्राधिकार में सभी राज्यों को मदद करने के लिए तैयार है। पूसीरे ने तेजी से नियुक्त करने के लिए विभिन्न राज्यों में फैले हुए विविध स्थानों पर 299 कोविड केयर कोचों को तैयार रखा है। कटिहार मंडल के अधीन कटिहार तथा सिलीगुड़ी क्षेत्रों में 40 कोच तैयार रखी गई है। अलीपुरद्वार मंडल के अधीन अलीपुरद्वार व न्यू कूचबिहार क्षेत्रों में 22 कोचें तैयार खड़ी हैं। रंगिया मंडल के विभिन्न स्थानों पर 52 कोचों को तैयार रखा गया है। लमडिंग मंडल के अधीन विभिन्न राज्यों के फैले हुए विभिन्न स्थानों पर 131 कोविड केयर कोच तैयार रखी गई है तथा पूसीरे के तिनसुकिया मंडल के अधीन विभिन्न स्थानों पर इस तरह की 54 कोविड केयर कोचें तैयार है। उल्लेखनीय है कि चूंकि पूरा देश वर्तमान में कोविड की दूसरी लहर के कहर से जूझ रहा है। ऐसी परिस्थिति में रेल मंत्रालय ने कोविड-19 के प्रारम्भिक लहर के दौरान पहले से प्रदत्त कोविड केयर आईसोलेशन कोचों को और अधिक सुविधाओं के साथ पुनः नियुक्त करने की पहल की है। तैयारी के उपायों के रूप में कोविड केयर कोचों को अल्प लक्षणों वाले कोविड मरीजों के आइसोलेशन के लिए अतिरिक्त स्वास्थ्य देखरेख सुविधा के साथ तैयार किया गया है। इन कोचों में वर्तमान गर्मी के मौसम से निपटने के लिए कूलरों, जूट की चटाई जैसी सुविधाओं से लैस किया गया है। देश भर के विभिन्न रेलवे स्टेशनों पर 64000 बिस्तरों के साथ करीब 4000 कोविड केयर कोचों के तैयार रखी गई है, इनमें से कुछ कोविड की पहली लहर में मरीजों के आईसोलेशन की जरूरतों में इस्तेमाल किया जा चुका है। राज्य सरकारों की मांग पर, इन आइसोलेशन केंद्रों कों अल्प तथा सामान्य लक्षणों वाले मरीजों की जरूरतों के अनुसार इस्तेमाल किया जाएगा (राज्य स्वास्थ्य प्राधिकारियों के निर्देशों के अनुसार इन सुविधाओं का इस्तेमाल किया जाएगा)। रेलवे इन मरीजों के खान-पान की सुविधाओं का ख्याल रखने के लिए सम्पूर्ण प्रयास कर रही है तथा इन कोचों की स्वच्छता का भी ध्यान रख रही है। राज्य सरकारों द्वारा इस्तेमाल की जा रही आइसोलेशन कोचों की उपलब्धता के बारे में नवीनतम जानकारी समय-समय पर प्रदान की जाएगी। हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद