participated-in-the-10th-conference-of-sonowal-all-tai-ahom-students-union
participated-in-the-10th-conference-of-sonowal-all-tai-ahom-students-union
असम

सोनोवाल ऑल ताई अहोम स्टूडेंट्स यूनियन के 10वें सम्मेलन में लिया हिस्सा

news

-असम को मजबूत बनाने के लिए चुकाफा की शिक्षाओं का पालन करने का सीएम ने किया आह्वान डिब्रूगढ़, 21 फरवरी (हि.स.)। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने कहा कि स्वर्गदेव चाउलुंग चुकाफा के सार्वभौमिक सिद्धांत को अपनाते हुए असम को दुनिया में सबसे मजबूत बनाने के लिए ठोस प्रयास होने चाहिए। सत्ता में आने के तुरंत बाद भाजपा ने सरकार का नेतृत्व करते हुए राज्य के सभी प्रमुख और छोटे समुदायों को एक मजबूत असम बनाने के लिए चाउलुंग चुकाफा के सार्वभौम सिद्धांत पर आधारित कदम उठाए। सोनोवाल ने रविवार को डिब्रूगढ़ जिला के दुलियाजान स्थित गदाधर सिंह समन्वय क्षेत्र में आयोजित ऑल ताई आहोम स्टूडेंट्स यूनियन (आट्सू) के 10वें द्विवार्षिक आम सम्मेलन में हिस्सा लेते हुए ये बातें कही। मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि आट्सू शुरू से ही राज्य के सभी वर्गों के सौहार्दपूर्ण सह-अस्तित्व को मजबूत करने के लिए चाउलुंग सुकाफा की विचारधारा पर चल रहा है। उन्होंने इस अवसर पर सभी से असम को सांस्कृतिक, सामाजिक और आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए चुकाफा की शिक्षाओं का पालन करने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि हालांकि, असम के लोगों को कई चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है, स्वर्गदेव चाउलुंग चुकाफा की शिक्षाओं ने राज्य को सभी वर्गों के लोगों के बीच मौजूद सौहार्दपूर्ण बंधन को बहाल करने के लिए सभी चुनौतियों को पार करने में सक्षम बनाया है। उन्होंने कहा कि इसी प्रकार श्रीमंत शंकरदेव ने भी असमी समाज को सामाजिक, सांस्कृतिक और आध्यात्मिक रूप से मजबूत बनाने में अहम योगदान दिया। उन्होंने इस समय आट्सू द्वारा दूरदराज स्थान पर सम्मेलन आयोजित करने और लोगों को एक जगह पर जुटाने के लिए आभार व्यक्त किया। मुख्यमंत्री सोनोवाल ने कहा कि 21वीं सदी में जिस पर कड़ी प्रतिस्पर्धा का बोलबाला है, उसे स्वयं को स्थापित करने के लिए बहुत समर्पित होकर काम करना होगा। उन्होंने कहा, "हमें इस तथ्य को स्थापित करना होगा कि हम किसी से कम नहीं हैं।" सोनोवाल ने कहा कि आहोम वंश के छह सौ साल लंबे शासन की अंतर्निहित सच्चाई को समझने के लिए अध्ययन की आवश्यकता पर जोर दिय। सोनोवाल ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार ने सभी प्रमुख और छोटे समुदायों की महान हस्तियों को उनकी महत्वपूर्ण भूमिका को मान्यता देने के लिए कदम उठाए हैं। उन्होंने सभी क्षेत्रों पर राज्य को मजबूत बनाने के लिए आट्सू को नेतृत्व करने का भी अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि उनकी सरकार ने पहले ही 42 आहोम स्वर्गदेव की याद में चराइदेव हिल्स में स्मारक क्षेत्र के निर्माण के लिए फंड जारी किया है। उन्होंने यह भी कहा कि डिब्रूगढ़ विश्वविद्यालय में सुकाफा के नाम से एक सीट स्थापित की गई है। इस मौके पर विधायक तेरश ग्वाला, आट्सू की केंद्रीय कमेटी के अध्यक्ष लितुल बरगोहाईं, जिला उपायुक्त पल्लब गोपाल झा, चेयरपर्सन जिला परिषद डेजी रानी फूकन श्याम, चेयरमैन असम गैस कंपनी इंदिरा गोगोई के साथ ही अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार / अरविंद

AD
AD