चांगसारी में एनडीआरएफ एवं रेलवे ने रेल दुर्घटनाओं पर किया मॉक ड्रिल
ndrf-and-railways-conducted-mock-drill-on-rail-accidents-in-changsari

चांगसारी में एनडीआरएफ एवं रेलवे ने रेल दुर्घटनाओं पर किया मॉक ड्रिल

गुवाहाटी, 30 जून (हि.स.)। प्रथम वाहिनी एनडीआरएफ ने बुधवार को रेलवे रंगिया डिवीजन के साथ मॉक ड्रिल को कुशलतापूर्बक अंजाम दिया। एनडीआरएफ को पिछले समय में हुए रेल दुर्घटनाओं की वजह से बचाव और राहत कार्यों में आने वाली समस्याओं का एक अच्छा अनुभव रहा है। अभ्यास के दौरान, एनडीआरएफ कर्मियों ने श्वान दस्ता, लाइव डिडक्टर, गैस कटर, पलाजमा कटर, हाइड्रोलिक कटर, स्प्रेडर्स और रोटरी रेस्क्यू जैसे आधुनिक उपकरणों का उपयोग करके पलटी हुई रेल बोगियों को काट कर और बचाव तकनीकों का प्रदर्शन किया। सभी उपकरणों और उनकी क्षमताओं को सभी बचाव दल कार्मिकों को समझाया गया तथा सभी उपकरणों को मॉक ड्रिल के दौरान उपयोग कर दिखाया गया। एनडीआरएफ के सहायक कमांडेंट संजीव कुमार और वरिष्ठ चिकित्सा अधिकारी के नेतृत्त्व में 103 बचाव दल के साथ संकट की स्थिति से निपटने के लिए असम के कामरूप (ग्रामीण) जिला अंतर्गत रंगिया रेल डिवीजन के साथ चांगसारी रेलवे स्टेशन में एक संयुक्त मॉक ड्रिल और प्रतिक्रिया में भाग लिया। एनडीआरएफ और रेलवे कर्मियों ने मॉक ड्रिल के दौरान अद्भुत कौशल का प्रदर्शन किया एवं विभिन्न परिस्थितियों में पीड़ितों को बचाया गया और दबे हुए यात्रियों को निकाला गया। इस मॉक ड्रिल में एनडीआरएफ और रेलवे कर्मियों की तैयारियों को दिखाया गया, ऐसी दुर्घटनाओं और आपदाओं के मॉक ड्रिल से निश्चित रूप से रेलवे और एनडीआरएफ के टीमों को बचाव और राहत कार्यों के दौरान आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद मिलेगी। इस अभ्यास के परिणामस्वरूप किसी भी रेल दुर्घटना के दौरान एनडीआरएफ और भारतीय रेलवे के बीच बेहतर समन्वय होगा। इस अभ्यास ने रेल दुर्घटनाओं के दौरान व्यक्तिगत सुरक्षा को बनाए रखते हुए मामूली रूप से घायल या हल्के फंसे पीड़ितों को निकालने और परिवहन के लिए प्रारंभिक प्रतिक्रिया के काम में सामुदायिक भागीदारी को सुनिश्चित किया गया। बहुमूल्य मानव जीवन को बचाने के लिए रेलवे दुर्घटना की स्थिति में प्रभावी प्रतिक्रिया के लिए भविष्य में इस तरह के और अधिक अभ्यास का आयोजन करने के लिए एक संकल्प के साथ अभ्यास का समापन हुआ। हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद

Related Stories

No stories found.