बाढ़ प्रभावित कोकराझार में एनडीआरएफ ने चलाया बचाव अभियान
बाढ़ प्रभावित कोकराझार में एनडीआरएफ ने चलाया बचाव अभियान
असम

बाढ़ प्रभावित कोकराझार में एनडीआरएफ ने चलाया बचाव अभियान

news

गुवाहाटी, 31 जुलाई (हि.स.)। असम के भारत-भूटान सीमावर्ती कोकराझार जिले में लगातार हो रही लगातार बारिश के कारण बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। गौरांग नदी का जलस्तर बढ़ने से इलाके के काफी नागरिक प्रभावित हुए हैं। शुक्रवार को बाढ़ में फंसे ग्रामीणों की सूचना मिलते ही तुरंत प्रथम बटालियन एनडीआरएफ की टीम गौरांग चर इलाके में पहुंचकर बाढ़ पीड़ित ग्रामीणों को बाहर निकाला और उन्हें सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया। इस साल मानसून के मौसम में एनडीआरएफ ने कुल 2800 से अधिक बाढ़ पीड़ितों एवं 25 मवेशियों को बाढ़ से बहार निकालकर सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है। एनडीआरएफ की 16 टीमें असम के बाढ़ प्रभावित जोरहाट, बंगाईगांव, कामरूप (मेट्रो), कामरूप (ग्रामीण), ग्वालपाड़ा, कोकराझार, गोलाघाट, धुबरी, बरपेटा, कछार, शिवसागर, शोणितपुर, धेमाजी और तिनसुकिया जिलों में तैनात हैं। इसके अलावा बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए एनडीआरएफ की चार टीमें तैयार स्थिति में उपलब्ध रहती हैं। एनडीआरएफ नियंत्रण कक्ष अन्य बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में कड़ी निगरानी रख रहा है। बाढ़ की अप्रत्याशित स्थिति के उत्पन्न होने पर प्रथम एनडीआरएफ के कमांडेंट रणधीर सिंह गिल ने कहा कि “एनडीआरएफ जरूरत के समय प्रभावित लोगों के लिए हमेशा तैयार रहता है। कोरोना की स्थिति के बीच लोगों को मास्क और सैनिटाइज़र उपयोग करना एवं सामाजिक दूरी बनाए रखने की आवश्यकता है।” हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद-hindusthansamachar.in