minister-brahm-accuses-bjp-and-uppl-of-serious-charges
minister-brahm-accuses-bjp-and-uppl-of-serious-charges
असम

मंत्री ब्रह्म ने भाजपा और यूपीपीएल पर लगाया गंभीर आरोप

news

कोकराझार (असम), 05 अप्रैल (हि.स.)। असम विधान सभा चुनाव के तीसरे चरण का चुनाव प्रचार समाप्त होने के पश्चात रविवार की रात को असम सरकार की मंत्री और बीपीएफ की उम्मीदवार प्रमीला रानी ब्रह्म के घर पर हजारों की संख्या में भीड़ एकत्र हुई थी। प्रशासन द्वारा की गयी कार्रवाई से नाराज प्रमीला व बीपीएफ के अध्यक्ष हग्रामा महिलारी प्रशासन पर भाजपा और यूपीपीएल के इशारे पर काम करने का गंभीर आरोप लगाया है। उल्लेखनीय है कि मंत्री के घर में भारी भीड़ जुटने की सूचना मिलते ही प्रशासन ने करवाई करते हुये भीड़ को हटाया। इस पर प्रमीला रानी ब्रह्म के अंग रक्षक और बोडोलैंड छात्र संघ के कुछ सदस्यों ने पुलिस के काम में अड़ंगा डालने के साथ ही पुलिस वालों के साथ दुर्व्यवहार कया। इस मामले में पुलिस ने कर्रवाई करते हुये एक अंगरक्षक और बोडोलैंड छात्र संघ के एक सदस्य को गिरफ्तार कर लिया है। दोनों से पूछताछ जारी है। इस मामले में प्रमीला रानी ब्रह्म ने पुलिस पर आरोप लगते हुये कहा है कि पुलिस ने उनके घर पर आये कार्यकर्त्ताओं पर लाठी चार्ज किया और उनके साथ दुर्व्यवहार किया। मंत्री ब्रह्म ने इस मामले में चुनाव आयोग से कोकराझार पुलिस अधीक्षक को निलंबित करने की मांग की है। इस मामले में बीती देर रात को कोकराझार पुलिस अधीक्षक राकेश रोशन ने मीडिया को बताया कि पुलिस भीड़ की सूचना पाकर घटना स्थल पर पहुंची और भीड़ को हटाया। इस दौरान प्रमीला रानी ब्रह्म के अंगरक्षक ने पुलिस के साथ दुर्व्यवहार किया और पुलिस के काम में बाधा डालने की कोशिश की। उन्होंने कहा धारा 144 और चुनाव आचार संहिता के उल्लंघन के आरोप में प्रमीला रानी ब्रह्म के विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज की जाएगी। ज्ञात हो कि रविवार को असम विधानसभा के तीसरे चरण का चुनाव प्रचार का अंतिम दिन था। चुनाव प्रचार समाप्त होने के पश्चात जिला में धारा 144 लगायी गयी है। इसके अनुसार एक जगह 05 से अधिक लोग एकत्र नहीं हो सकते। हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद