मुख्यमंत्री के वक्तव्य पर प्रतिपक्ष के नेता ने जताई आपत्ति

मुख्यमंत्री के वक्तव्य पर प्रतिपक्ष के नेता ने जताई आपत्ति
leader-of-the-opposition-objected-to-the-chief-minister39s-statement

गुवाहाटी, 20 जून (हि.स.)। मुख्यमंत्री डॉ हिमंत बिस्व सरमा द्वारा विपक्ष की भूमिका के संदर्भ में शनिवार को दिए गए बयान पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता तथा विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता देवब्रत सैकिया ने कड़ी आपत्ति जताई है। रविवार को मीडिया में बयान जारी करते हुए सैकिया ने मुख्यमंत्री डॉ सरमा से माफी मांगने की मांग की है। उल्लेखनीय है कि शनिवार को मुख्यमंत्री डॉ सरमा ने कहा था कि असम में विपक्षी दलों की कोई भूमिका अगले पांच वर्षों तक भाजपा के शासनकाल में नहीं रहेगी। इसलिए विपक्षी विधायकों को सत्ता पक्ष में शामिल हो जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को कैसे लगता है कि विपक्ष की भूमिका नहीं है। विपक्ष के संदर्भ में संविधान में स्पष्ट लिखा हुआ है। सैकिया ने भारतीय जनता पार्टी के सात वर्षों की केंद्र सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि जनता के साथ लगातार धोखा किया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर भाजपा सरकार के कार्यकाल में लोकतांत्रिक संस्थाओं को कमजोर किए जाने का भी प्रतिपक्ष के नेता ने आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार के दिनों में एक से बढ़कर एक कार्य राज्य में हुए थे। एक समय था जब भाजपा के सिर्फ दो सांसद चुनकर संसद में पहुंचते थे। सैकिया ने मुख्यमंत्री डॉ सरमा, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी तथा भाजपा की सरकार पर जनता के साथ छल करने संबंधी कई आरोप लगाए। हिन्दुस्थान समाचार/ श्रीप्रकाश/ अरविंद

अन्य खबरें

No stories found.