hagrama39s-involvement-in-the-grand-alliance-is-just-a-gimmick---bjp
hagrama39s-involvement-in-the-grand-alliance-is-just-a-gimmick---bjp
असम

महागठबंधन में हग्रामा का शामिल होना महज एक नौटंकी- भाजपा

news

गुवाहाटी, 28 फरवरी (हि.स.)। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश प्रवक्ता लक्ष्य कोंवर ने रविवार को कहा कि हग्रामा मोहिलारी नेतृत्व वाली बीपीएफ के कांग्रेस नेतृत्वाधीन महागठबंधन में शामिल होना महज एक नौटंकी है। उन्होंने एक बयान में कहा कि मोहिलारी के साथ कांग्रेस, एआईयूडीएफ गठबंधन के साथ गुप्त सांठगांठ होने का अनुमान प्रदेश भाजपा ने पहले ही जताया था। अंततः भाजपा का यह अनुमान आज सत्य साबित हुआ है। एआईयूडीएफ के साथ सांठगांठ कर कांग्रेस ने जिस तरह से स्वयं को स्थानीय मूल निवासियों के विरोधी होने की बात साबित की है उसी तरह बीपीएफ ने महागठबंधन में शामिल होकर बोडो लोगों के संग्रामी इतिहास को कलंकित किया है। क्योंकि, मोहिलारी के संग्रामी और राजनीतिक सफर अजमल की तरह संदिग्ध बांग्लादेशियों के संरक्षक के खिलाफ शुरू हुआ था। स्वयं को बोडो जनजातियों के हित की रक्षा करने की बात कहने वाले मोहिलारी पर कटाक्ष करते हुए भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि 2021 के विधानसभा चुनाव से पहले अपने को ताकतवर होने का परिचय देते हुए आखिरकार बीपीएफ ने अंतिम सहारा के रूप में महागठबंधन का सहारा लिया है। इससे यह साबित हुआ है कि सिर्फ अपने स्वार्थ सिद्धि के लिए मोहिलारी ने बोडो भूमि की जनता के स्वार्थ को तिलांजलि दे दिया है। मोहिलारी के भाजपा को जीवित रखने संबंधी की गयी टिप्पणी पर बोलते हुए भाजपा प्रवक्ता ने इसे हास्यास्पद करार दिया है। उन्होंने कहा कि दूसरों का उदाहरण देने वाली बीपीएफ को बीटीसी चुनाव में बोडो भूमि की जनता ने भाजपा को असीम समर्थन दिया था, जिसके चलते भाजपा ने अभूतपूर्व जीत दर्ज की थी। सिर्फ सफलता ही नहीं भाजपा ने वर्तमान बीटीसी में गठबंधन के तहत परिषदीय सरकार बनाई है। इसके विपरीत बीटीसी में बोडो भूमि के पुराने राजनीतिक दल बीपीएफ को अब कहां पहुंचा दिया है, उसे जनता देख रही है। प्रदेश भाजपा के संगठन की ताकत को दोहराते हुए भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता कोंवर ने कहा कि भाजपा के 39 सांगठनिक जिले, 6000 शक्ति केंद्र के संयोजक, 400 मंडल, चार लाख पन्ना प्रमुख और दो लाख से अधिक कार्यकर्ता सक्रिय हैं। व्यक्ति बाद में सार्वजनिक हित को अग्राधिकार देने वाली इस लाखों महाताकतों के सामने कोई भी स्वार्थी राजनीतिक ताकत टिक नहीं सकती है। हग्रामा, एआईयूडीएफ, कांग्रेस समेत प्रत्येक विपक्षी पार्टी प्रदेश भाजपा की महासंगठन की ताकत के संबंध में अवगत हैं। उन्होंने कहा कि महागठबंधन की जीत यानी जनता के अस्तित्व पर संकट होने के समान है। यह बातें बोडो भूमि की जनता एहसास कर रही है। बीटीसी की जनता के प्रति हमेशा जागरूक भाजपा ने बोडो भूमि को ऐसी अशुभ ताकत से सुरक्षित करने के लिए प्रतिबद्ध है। बोडो भूमि के विकास की मूल चाबी सबका साथ, सबका विकास आदर्श से संचालित भाजपा से होती है। 15 सालों से असम को लूटने वाली कांग्रे, बांग्लादेशियों की संरक्षक एआईयूडीएफ, बीटीसी के भ्रष्टाचार के खलनायक हाग्रामा के पास आदर्श नहीं है। यह बातें बोडो भूमि की जनता अच्छी तरह से समझती है। हिन्दुस्थान समाचार /अरविंद