बहू की कोशिशें हुईं नाकाम, काका ससुर की मौत

बहू की कोशिशें हुईं नाकाम, काका ससुर की मौत
daughter-in-law39s-efforts-failed-uncle39s-father-in-law-dies

-कोरोना संक्रमित ससुर को पीठ पर लादकर बहू ने पहुंचा था अस्पताल गुवाहाटी (असम), 08 जून (हि.स.)। नगांव जिला के रोहा थानांतर्गत भाटी गांव निवसी कोरोना संक्रमित अपने 75 वर्षीय ससुर थुलेश्वर दास को बहू निहारिका दास पूरी कोशिशों के बावजूद बचा नहीं पायी। इलाज के दौरान थुलेश्वर दास की बीती रात मौत हो गई। उल्लेखनीय है कि निहारिका दास वही महिला है जिसने अपने कोरोना संक्रमित ससुर को पीठ पर लादकर नगांव अस्पताल लाकर भर्ती कराया था। इस दौरान निहारिका भी कोरोना पीड़ित हो गयी थी। थुलेश्वर दास की हालत गंभीर देखते हुए डॉक्टरों ने बेहतर चिकित्सा के लिए गुवाहाटी मेडिकल कॉलेज अस्पताल (जीएमसीएच) में रेफर किया था। दोनों का इलाज जीएमसीएच की नई बिल्डिंग में बनाए गए सुपर स्पेशलिटी चिकित्सालय कोविड केअर के पहले तल्ले पर इलाज चल रहा था। इलाज के दौरान निहारिका के ससुर की मौत हो गई। ससुर के निधन के बाद निहारिका ने सोशल मीडिया पर असम सरकार और डॉक्टरों की काफी प्रशंसा करते हुए एक वीडियो अपलोड किया था। उसने कहा था कि उसके ससुर का स्वास्थ्य धीरे-धीरे ठीक हो रहा है। बावजूद बीती रात अचानक ससुर का स्वास्थ्य बिगड़ने लगा। और, अंततः ससुर की बीती रात मौत हो गयी। निहारिका का इलाज जीएमसीएच में चल रहा है। मौत के बाद निहारिका के ससुर का अंतिम संस्कार गुवाहाटी के भूतनाथ श्मशान घाट पर मंगलवार को किया गया। ज्ञात हो कि नगांव जिला के रोहा थानांतर्गत भाटी गांव की निहारिका की लोगों ने उस समय काफी प्रशंसा की थी जब सोशल मीडिया पर एक फोटो वायरल हुआ था, जिसमें वह अपने ससुर को पीठ पर लादकर अस्पताल ले जा रही थी। निहारिका का पति पश्चिम बंगाल के सिलिगुड़ी में नौकरी करता था। हालांकि, वह गुवाहाटी पहुंच गया है। हिन्दुस्थान समाचार/ असरार/ अरविंद