कोरोना के चलते मस्जिद व ईदगाहों में नहीं हुई सामूहिक नमाज
कोरोना के चलते मस्जिद व ईदगाहों में नहीं हुई सामूहिक नमाज
असम

कोरोना के चलते मस्जिद व ईदगाहों में नहीं हुई सामूहिक नमाज

news

नगांव (असम), 01 अगस्त (हि.स.)। देश के अन्य हिस्सों के साथ ही असम में भी शनिवार को हर्षोल्लास के साथ कोरोना महामारी के चलते सरकारी नियमों का अनुपालन करते हुए लोग घरों में ही बकरा ईद की नमाज अता की। सरकारी निर्देश को मानते हुए ईद उल अजहा (बकरीद) के मौके पर मस्जिद और ईदगाहों में महज 03 लोगों ने ही नमाज अता की। वहीं ज्यादातर लोगों ने अपने-अपने घरों में अपने परिवार के साथ ईद की नमाज पढ़ी। नगांव जिला के पूरनी गोदाम जामा मस्जिद और ईदगाह मैदान में सामूहिक नमाज नहीं हुई। जामा मस्जिद के ईदगाह मैदान ईद के दिन भी सन्नाटा पसरा रहा। हालांकि, ईद के मौके पर मस्जिद और ईदगाह को काफी सुंदर तरीके से सजाया गया था। मस्जिद कमेटी ने कहा है कि सरकार के नियमों का पालन करते हुए ईद की नमाज अता की गई है। ईद के पवित्र मौके पर सभी लोगों ने कोरोना महामारी से छुटकारा और देश में अमन शांति के लिए दुआ मांगी है। हिन्दुस्थान समाचार/ असरार/ अरविंद-hindusthansamachar.in