congress-trying-to-save-political-existence-by-holding-hands-of-aiudf--smriti-irani
congress-trying-to-save-political-existence-by-holding-hands-of-aiudf--smriti-irani
असम

एआईयूडीएफ का हाथ पकड़कर राजनीतिक अस्तित्व को बचाने में जुटी कांग्रेस- स्मृति ईरानी

news

गुवाहाटी, 30 मार्च (हि.स.)। विकास के संकल्प को लेकर असम विधानसभा चुनाव में भाजपा के सभी कार्यकर्ता और पार्टी के उम्मीदवार जुटे हुए हैं। भाजपा कार्यकर्ता और उम्मीदवार अपने आपको गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में असम तथा समूचे देश में विकास की एक नई लहर चल रही है। जिसके चलते पुनः असम में भाजपा की सरकार बनाने के लिए असम की सामान्य जनता ने निर्णय लिया है। ये बातें मंगलवार को गुवाहाटी के खानापाड़ा स्थित भाजपा प्रदेश चुनाव संवाद कोष कार्यालय में आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कही। उल्लेखनीय है कि केंद्रीय मंत्री ईरानी मंगलवार को दो जनसभाओं को संबोधित करने के पश्चात गुवाहाटी में पहुंची थीं। उन्होंने कहा कि असम में बाढ़ से प्रभावित इलाकों की जनता जिस समस्या से दो-चार हो रही हैं उसके मद्देनजर भाजपा ने मिशन ब्रह्मपुत्र के जरिए इस समस्या के समाधान का संकल्प लिया है। भाजपा असम के विभिन्न प्रकल्पों को तीव्र गति प्रदान कर विकास के कार्यक्रमों को आगे बढ़ा रही है। उन्होंने कहा कि असम की बाढ़ समस्या के समाधान के लिए कांग्रेस के कार्यकाल के दौरान 24 सौ करोड़ रुपए का आवंटन हुआ था, इसके विपरीत भाजपा सरकार में 95 सौ करोड़ रुपए से अधिक का आवंटन हुआ है। उन्होंने कहा, कांग्रेस के शासनकाल में असम में किसी भी तरह का विकास नहीं हुआ। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि कांग्रेस अपने शासनकाल में गरीब और सामान्य लोगों को सुविधा पहुंचाने के लिए बैंक अकाउंट जैसे काम को करने की आवश्यकता कभी महसूस नहीं की। जबकि, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के दूरदर्शी नेतृत्व के चलते गरीब और सामान्य जनता का जनधन योजना के जरिए बैंक अकाउंट खोला गया। जिसके चलते कोरोना महामारी के समय इसके जरिए सामान्य जनता को काफी लाभ मिला। अरुणोदय योजना का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि इस योजना के अधीन अब तक 22 लाख महिलाओं को प्रतिमाह 830 रुपये प्रदान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार असम में पुनः आती है तो इस धनराशि को 3000 रुपये तक बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि असम की जनता ने भाजपा के विकास के दिए आश्वासन को वास्तविक होता देखने के बाद भाजपा की ओर से जारी संकल्प पत्र के प्रति फिर से अपना समर्थन देने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा, भाजपा ने ही असम में विकास को सर्वोच्च स्थान दिया है जबकि, कांग्रेस और एआईयूडीएफ मिलकर जनता को विकास से वंचित कर एक दूसरे मार्ग पर ढकेलने का दुःस्साहस कर रही हैं। उन्होंने राहुल गांधी पर कटाक्ष करते हुए कहा कि एआईयूडीएफ के अध्यक्ष मौलाना बदरुद्दीन अजमल का परिचय असम की पहचान बता रहे हैं। उन्होंने कहा कि असम के गौरव की बात अगर करें तो मां कामाख्या की पवित्र भूमि, लोकप्रिय गोपीनाथ बरदलै के अवदान को बताना होगा। इस मामले में कांग्रेसी नेता के पास सामान्य ज्ञान भी नहीं है। अपने राजनीतिक अस्तित्व को बचाने के लिए ही एआईडीएफ से कांग्रेस ने हाथ मिलाया है। ऐसी पार्टी असम के भविष्य को किस तरह से सुरक्षित करेगी यह बड़ा प्रश्न है। ईरानी ने कहा कि जनता के हाथ में विकास की स्पष्ट छवि है। भाजपा सामान्य जनता के बुनियादी सुविधा और अधिक व्यवस्थाओं को सुनिश्चित करने के प्रति दृढ़ प्रतिज्ञ है। गत 05 वर्ष में भाजपा के प्रति जो समर्थन असम की जनता ने दिया है उसके प्रति मैं आभार व्यक्त करते हुए अगले 05 साल के लिए असम में भाजपा की पुनः सरकार बनाने के लिए संकल्प लेने वाली राज्य की जनता की मैं धन्यवाद ज्ञापन करती हूं। संवाददाता सम्मेलन में भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष तथा असम के प्रभारी बैजयंत जय पांडा, राष्ट्रीय प्रवक्ता केके शर्मा, भाजपा असम प्रदेश के आर्थिक कोष के संयोजक डॉ देबजीत महंत के साथ ही संवाद कोष के प्रदेश संयोजक देवान ध्रुवज्योति मरल आदि उपस्थित थे। हिन्दुस्थान समाचार /अरविंद