ajp-president-gogoi-started-election-campaign-four-days-after-his-mother39s-death
ajp-president-gogoi-started-election-campaign-four-days-after-his-mother39s-death
असम

मां के निधन के चार दिन बाद ही एजेपी अध्यक्ष गोगोई ने शुरू किया चुनाव प्रचार

news

गुवाहाटी, 03 अप्रैल (हि.स.)। असम विधानसभा चुनावों से ऐन वक्त पहले गठित असम जातीय परिषद (एजेपी) के अध्यक्ष लुरिनज्योति गोगोई की मां का निधन चार दिन पूर्व हो गया था, जिसके चलते चुनाव प्रचार को बीच में छोड़कर गोगोई अपने घर लौट गये थे। मां के निधन के चार दिन के बाद शनिवार को फिर से गोगोई चुनाव प्रचार अभियान में जुट गये हैं। राज्य में तीसरे व अंतिम चरण का मतदान 06 अप्रैल को होने जा रहा है। ऐसे में गोगोई दो दिन अपने पार्टी के उम्मीदवारों के समर्थन में जमकर चुनाव प्रचार करने के लिए जुट हैं। शनिवार को पूर्व गुवाहाटी विधानसभा क्षेत्र के एजेपी उम्मीदवार अदीप कुमार फूकन के समर्थन में गोगोई ने चुनाव प्रचार किया। शनिवार को एजेपी अध्यक्ष ने गुवाहाटी के चांदमारी अभियांत्रिक महाविद्यालय के खेल मैदान में पहुंचकर चुनाव प्रचार का आगाज किया। खेल मैदान से निकली एक बाइक रैली में उन्होंने हिस्सा लिया। मीडिया से बातचीत करते हुए लुरिनज्योति गोगोई ने कहा कि असम को सुरक्षित रखने का एक मात्र तरीका क्षेत्रीयतावाद को लेकर आगे बढ़ना है। यही कारण है कि इस बार के चुनाव में एजेपी के समर्थन में गांव-गांव में लोगों ने जमकर मतदान किया है। उन्होंने आरोप लगाया कि परिवर्तन के नाम पर भाजपा सरकार ने कुशासन, गुंडागिरी, माफियाराज कायम किया। इस बार जनता पूरी तरह से एजेपी के पक्ष में खड़ी नजर आ रही है। वहीं भाजपा नेता डॉ हिमंत विश्वशर्मा के विरुद्ध चुनाव आयोग द्वारा चुनाव प्रचार पर रोक लगाए जाने के संबंध में उन्होंने कहा कि केवल डॉ विश्वशर्मा ही नहीं, ऐसे बयान जो भी व्यक्ति दे रहा है, उन सभी के विरुद्ध चुनाव आयोग को कठोर कदम उठाना चाहिए। साथ ही कहा कि केवल 48 घंटे के रोक से नहीं होने वाला है, आने वाले दिनों में भी इस तरह के लोगों पर कड़ी नजर रखनी होगी। उन्होंने कहा कि भाजपा पूरे चुनाव में केवल मौलाना बदरुद्दीन अजमल की बात करती रही। भाजपा का प्रचार अजमल से आरंभ होकर अजमल पर ही समाप्त हो गया। हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद