सिलापथार के ताम्रेस्वरी आईथान में दुर्गा पूजा आरंभ
सिलापथार के ताम्रेस्वरी आईथान में दुर्गा पूजा आरंभ
असम

सिलापथार के ताम्रेस्वरी आईथान में दुर्गा पूजा आरंभ

news

धेमाजी (असम), 17 अक्टूबर (हि.स.)। कोरोना संक्रमण के बीच दुर्गा पूजा का आयोजन मंदिरों में शनिवार से आरंभ हो गया। राज्य के विभिन्न मंदिरों में माता की विधिवत पूजा की गयी। शनिवार से नवरात्र शुरू हो गया है। हालांकि, गत वर्षों की तरह इस बार दुर्गा पूजा को लेकर पूजाा समितियों की व्यस्तता नहीं देखी जा रही है। राज्य के विभिन्न मंदिरों के साथ सिलापथार के ऐतिहासिक ताम्रेस्वरी आईथान (मंदिर) में प्रशासन के नियमों के अनुसार परंपरागत रूप से दुर्गा पूजा उत्सव शुरू हुआ है। उल्लेखनीय है कि ताम्रेश्वरी आईथान समिति ने सरकारी नियमों के अनुसार दुर्गा पूजा मनाने की तैयारी की है। सिलापथार के सिलासूती स्थित सौ वर्षीय पुराने इस मंदिर में हर साल दुर्गा पूजा के दौरान बड़ी संख्या में बकरी, बत्तक, मुर्गियों के साथ एक भैंस की बलि दी जाती है। हालांकि, इस बार ताम्रेश्वरी आईथान में पहले की तरह दुर्गा पूजा के समय बलि विधान को लेकर संसय बरकरार है। इस बार कोरोना संक्रमण के चलते थान समिति ने अलग उपाय किए हैं। इस बार सामाजिक दूरी बनाए रखते हुए श्रद्धालुओं को पूजा करनी होगी। बलि विधान के समय भी सामाजिक दूरी का पालन करना होगा। दुर्गा पूजा के अवसर पर हर साल हजारों की संख्या में भक्त यहां पहुंचते हैं। इस साल मंदिर समिति ने 50 से अधिक श्रद्धालुओं के प्रवेश पर रोक लगा दिया है। हालांकि, सौ साल से भी अधिक पुराने इस ऐतिहासिक मंदिर में दुर्गा पूजा के अवसर पर श्रद्धालुओं की भीड़ को संभालना मंदिर समिति के लिए कठिन कार्य होगा। हिन्दुस्थान समाचार /देबोजानी/ अरविंद-hindusthansamachar.in