लाचित उद्यान की स्थिति जर्जर
लाचित उद्यान की स्थिति जर्जर
असम

लाचित उद्यान की स्थिति जर्जर

news

गुवाहाटी, 22 नवम्बर (हि.स.)। राजधानी के जालुकबारी इलाके में स्थित प्रसिद्ध लाचित उद्यान की स्थिति देखरेख के अभाव में इन बेहद जर्जर हो गयी है। इस उद्यान के साथ अनेक ऐतिहासिक यादें जुड़ी हुई हैं। प्रत्येक वर्ष लाचित उद्यान में 24 नवम्बर को धूमधाम से लचित दिवस मनाया जाता है। लाचित दिवस पर उद्यान की साफ-सफाई कर उसे सुंदर तरीके से सजाया जाता है। उसके बाद उद्यान की देखभाल नहीं की जाती है। सरकार व संबंधित विभाग के गैर जिम्मेदारी के कारण उद्यान में झाड़-झंखाड़ उग जाते हैं। उद्यान के चारों ओर अब जंगल उग गया है। सरकार ने भी कई बार सराइघाट रण और लचित बरफुकन के आदर्श की बात करती है। लेकिन उद्यान की रखवाली के लिए कोई बेहतर इंतजाम नहीं किये गये हैं। लाचित बरफुकन की स्मृति उचित देखभाल के अभाव में जर्जर हो चुका है। हिन्दुस्थान समाचार/ देबोजानी/ अरविंद-hindusthansamachar.in