राज्यपाल ने की आई नदी की बाढ़ और तट कटाव का किया निरीक्षण
राज्यपाल ने की आई नदी की बाढ़ और तट कटाव का किया निरीक्षण
असम

राज्यपाल ने की आई नदी की बाढ़ और तट कटाव का किया निरीक्षण

news

चिरांग (असम), 24 जुलाई (हि.स.)। दक्षिण पश्चिम मानसून सीजन के दौरान औसत से ज्यादा बरसात ने असम में कहर बरपा दिया है। ब्रह्मपुत्र और उसकी सहायक नदियां उफान पर हैं। जहां लाखों लोग बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। चिरांग जिला में आई नदी भी उफान पर है। शुक्रवार को आई नदी की बाढ़ और तट कटाव का जायजा लेने के लिए राज्यपाल प्रो जगदीश मुखी पहुंचे थे। उन्होंने आई नदी के हग्रामा सेतु के निकट तट कटाव और इससे होने वाले नुकसान का निरीक्षण कर जलसंसाधन विभाग को आई नदी के तट कटाव को रोकने व हग्रामा पुल को जोड़ने वाले मार्ग की सुरक्षा के लिए आवश्यक उपाय करने को कहा। उल्लेखनीय है कि असम में हर साल बाढ़ और तट कटाव के कारण किसान की हजारों बीघा कृषि भूमि नदी की चपेट में समा जाती है। लेकिन, सरकार की ओर से बाढ़ पीड़ित लोगों को मुआवजा नहीं दिया जाता है। राज्यपाल ने केंद्र सरकार से इस बार बाढ़ पीड़ित किसानों को मुआवजा देने के लिए बातचीत करने का आश्वासन दिया है। ज्ञात हो कि बीटीसी का चुनाव नहीं होने के कारण बीटीसी के प्रशासन की कमान राज्यपाल के हाथों में है। बीटीसी के चार जिले कोकराझार, चिरांग, उदालगुरी और बाक्सा जिलों का राज्यपाल लगातार दौरा कर जिला प्रशासन के अधिकारियों के साथ चर्चा कर आवश्यक कदम उठाने का निर्देश दे रहे हैं। हिन्दुस्थान समाचार/ देबोजानी/ अरविंद-hindusthansamachar.in