मणिपुरी भाषा को स्वीकृति देने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन
मणिपुरी भाषा को स्वीकृति देने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन
असम

मणिपुरी भाषा को स्वीकृति देने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन

news

कछार (असम), 07 सितम्बर (हि.स.)। राज्य की सरकारी सहायक भाषा के रूप में मणिपुरी भाषाा को स्वीकृति देने की मांग को लेकर सोमवार को कछार जिला के फुलेरतल में कई मणिपुरी संगठनों ने जमकर विरोध प्रदर्शन किया। माइफा और मणिपुरी महिला एक्शन कमेटी सहित पांच संगठनों ने फुलेरतल में मणिपुरी भाषा को सरकारी सहायक भाषा का दर्जा देने की मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। हाथों में प्ले कार्ड लेकर संगठनों ने राज्य सरकार, शिक्षा मंत्री के विरूद्ध नारेबाजी की। इस बीच लक्ष्मीपुर-फुलर सड़क को अवरुद्ध कर लगभग एक घंटे तक वाहनों की आवाजाही को ठप कर दिया। सूचना मिलते ही प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचकर प्रदर्शनकारियों को समझाकर रास्ते को खाली कराया। मीडिया से बाचतीच करते हुए प्रदर्शनकारियों ने कहा कि जब तक सरकार मणिपुरी भाषा को सरकारी सहायक भाषा के रूप में स्वीकृति नहीं देगी तब तक हमारा आंदोलन चलता रहेगा। राज्य के चार लाख मणिपुरी लोग मणिपुरी भाषा को सरकारी सहायक भाषा के रूप स्वीकृत देने तक चुप नहीं बैठेंगे। चुनाव से पहले उनकी मांग पूरी न होने पर सन 2021 के चुनावों का वे बहिष्कार करने की भी चेतावनी दी। हिन्दुस्थान समाचार/ देबोजानी/ अरविंद-hindusthansamachar.in