भ्रष्टाचारी कांग्रेस को आरएसएस की आलोचना करने का अधिकार नहीं- भाजपा
भ्रष्टाचारी कांग्रेस को आरएसएस की आलोचना करने का अधिकार नहीं- भाजपा
असम

भ्रष्टाचारी कांग्रेस को आरएसएस की आलोचना करने का अधिकार नहीं- भाजपा

news

गुवाहाटी, 18 अक्टूबर (हि.स.)। असम प्रदेश भाजपा के प्रवक्ता सुभाष दत्त का कहना है कि कांग्रेसी नेताओं को आरएसएस जैसे महान संगठन की आलोचना करने का अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा है कि कुछ भ्रष्टाचारी कांग्रेसी नेता देश के लिए आजीवन सेवा करने वाले आरएसएस के त्याग की कहानी का अध्ययन किए बिना आधारहीन और मनगढ़ंत आरोप लगाकर राज्य के स्वयंसेवकों को घसीट कर सस्ता प्रचार पाने का रास्ता खोज रहे हैं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का आधारहीन आरोप राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के गौरवशाली इतिहास को और राज्य के स्वयंसेवकों की छवि को धूमिल नहीं कर सकेगा। दत्त ने कहा है कि कांग्रेसी नेताओं की भाजपा के साथ राजनीतिक प्रतिद्वंदिता है, आरएसएस के साथ नहीं है। इस कारण किसी राजनीतिक आलोचना के बीच में प्रदेश कांग्रेस के कुछ भ्रष्टाचारी नेता आरएसएस का नाम बार-बार घसीट कर अपनी बेकार की मानसिकता को उजागर कर रहे हैं। दत्त ने रविवार को जारी एक बयान में कहा है कि भाजपा नेतृत्वाधीन केंद्र सरकार के प्रधानमंत्री व लोकप्रिय नेता नरेंद्र मोदी और राज्य के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनवाल और प्रदेश भाजपा अध्यक्ष रंजीत कुमार दास के नेतृत्व का मुकाबला तिहाड़ जेल से लौटे प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष रिपुन बोरा के नेतृत्व के सहारे कांग्रेस चुनाव प्रचार के लिए भाजपा की आलोचना को ही चुनाव में विजयी होने का मापदंड माल लिया है। उन्होंने कहा कि भाजपा का प्रत्येक कार्यकर्ता राष्ट्र निर्माण के लिए ही राजनीति कर रहा है। इसलिए भाजपा उन सभी भ्रष्टाचारियों के खिलाफ लड़ रही है जिन्होंने असम को खतरे में डालने की साजिश रची है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और असम के मुख्यमंत्री सोनोवाल के नेतृत्व में असम पूरी तरह से सुरक्षित है। पिछले चार वर्षों से असम पूरे देश में अपना एक अलग स्थान बनाने में कामयाब हुआ है। सुभाष दत्त ने कहा कि भ्रष्टाचार और भ्रष्टाचार के माध्यम से राज्य को बर्बाद करने वाले कांग्रेसी नेताओं को भ्रष्टाचार के बारे में बात करने का कोई अधिकार नहीं है। असम के लोग कांग्रेसी नेता हितेश्वर सैकिया से लेकर पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई तक के भ्रष्टाचार के इतिहास को भूले नहीं हैं। कांग्रेस ने कभी कभार अपने भ्रष्टाचार को छुपाने के लिए सरकार की आलोचना करते हैं। उन्होंने कहा है कि असम के मुख्यमंत्री सनोवाल ने भ्रष्टाचार के खिलाफ सख्त नीति अपनाई है और भविष्य में भी वे भ्रष्टाचार के खिलाफ अपनी लड़ाई जारी रखेंगे। हिन्दुस्थान समाचार/ देबोजानी/ अरविंद-hindusthansamachar.in