भाजपा ने लगाया कांग्रेस पर भ्रष्टाचार का गंभीर आरोप
भाजपा ने लगाया कांग्रेस पर भ्रष्टाचार का गंभीर आरोप
असम

भाजपा ने लगाया कांग्रेस पर भ्रष्टाचार का गंभीर आरोप

news

गुवाहाटी, 17 अक्टूबर (हि.स.)। मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल गठबंधन राज्य सरकार के खिलाफ कांग्रेस के विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष देवव्रत सैकिया द्वारा भ्रष्टाचार के आरोप लगाये गये थे। शनिवार को भाजपा के मुख्य प्रवक्ता रूपम गोस्वामी ने देवब्रत सैकिया के आरोप पर पलटवार करते हुए भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाये। अपने बयान में गोस्वामी ने कहा है कि कांग्रेस शासन के दौरान राज्य में व्याप्त भ्रष्टाचार शासन की जड़ों तक फैल गया था। जिसका फल वर्तमान भाजपा सरकार को भुगतना पड़ रहा है। मुख्यमंत्री सोनवाल के पदभार ग्रहण करने के तुरंत बाद ही भ्रष्टाचार पर सख्त और कड़े कदम उठाए गये हैं। फलस्वरूप सोनोवाल के पदभार ग्रहण करने के बाद 70 से भी अधिक भ्रष्ट लोग जेल पहुंच गये हैं। गोस्वामी ने कहा कि एपीएससी के अध्यक्ष राकेश पाल को कांग्रेस सरकार ने अध्यक्ष के रूप में नियुक्ति दिया था। कांग्रेस सरकार के एपीएससी के भ्रष्टाचार के बाद भी कोई कार्यवाही नहीं हुई। दूसरी ओर एसआई भर्ती प्रक्रिया में भ्रष्टाचार उजागर होने के बाद ही मुख्यमंत्री सोनोवाल ने तुरंत जांच की घोषणा की और आरोपितों को गिरफ्तार कर उनके खिलाफ तुरंत कार्रवाई शुरू की। वर्तमान सरकार भ्रष्टाचार के खिलाफ जीरो टालरेंस की नीति पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के विभिन्न नेता और कार्यकर्ता भ्रष्टाचार में आरंठ लिप्त थे और हर एक नेता भ्रष्टाचार से करोड़ों रुपया कमाये हैं। कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ताओं ने सरकार के विभिन्न विभागों जैसे कृषि विभाग, समाज कल्याण विभाग, वन विभाग, बाढ़ सहायता के रुपये, खाद्य विभाग, फर्जी राशन कार्ड, जॉब कार्ड के नाम पर करोड़ों रुपये हड़प लिये थे। सोनोवाल ने हर विभाग में पारदर्शिता के साथ भर्ती प्रक्रिया पूरी की है। रूपम गोस्वामी ने बताया है कि अब भाजपा भ्रष्टाचार पर शक तो किये जा रहे हैं। हालांकि, सभी भ्रष्टाचार कांग्रेस सरकार के शासनकाल के हैं, इसके जरिए लोगों को कांग्रेस भ्रमित करने के लिए वर्तमान सरकार पर भ्रष्टाचार का मनगढ़ंत आरोप लगा रही है। हिन्दुस्थान समाचार/ देबोजानी/ अरविंद-hindusthansamachar.in