दो नवम्बर से खुलेंगे राज्य के विद्यालय व महाविद्यालय
दो नवम्बर से खुलेंगे राज्य के विद्यालय व महाविद्यालय
असम

दो नवम्बर से खुलेंगे राज्य के विद्यालय व महाविद्यालय

news

-केवल तीन श्रेणियों की होगी परीक्षा गुवाहाटी, 17 अक्टूबर (हि.स.)। आगामी नवम्बर माह के राज्य के विद्यलाय और महाविद्यालयों में पढ़ाई की प्रक्रिया आरंभ होगी। वहीं सिर्फ तीन श्रेणियों की परीक्षा आयोजित की जाएगी। ये बातें राज्य के शिक्षा, स्वास्थ्य, वित्त आदि मामलों के मंत्री डॉ हिमंत विश्वशर्मा ने सचिवालय में शनिवार को आयोजित एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। शिक्षा मंत्री ने कहा कि एक कक्षा में सिर्फ 20 से 25 विद्यार्थी ही पढ़ाई में शामिल हो पाएंगे। अगर कक्षा बड़ा होगा तो विद्यार्थियों की संख्या बढ़ाई जा सकती है। उन्होंने कहा कि इस बार विद्यालयों के पाठ्क्रम को भी छोटा किया जाएगा। साथ ही उन्होंने बताया कि इस बार सिर्फ आठवीं, दसवीं और बारहवीं की परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी। आठवीं की परीक्षाएं विद्यालय द्वारा आयोजित की जाएंगी। अन्य श्रेणियों के विद्यार्थियों को बिना परीक्षा के ही उत्तीर्ण किया जाएगा। उन्होंने कहा कि विद्यालय खोलने को लेकर राज्य सरकार की ओर से कोई निर्णय नहीं लिया जाएगा। डॉ विश्वशर्मा ने कहा कि पॉलिटेक्निक और अभियांत्रिक शिक्षण संस्थान आगामी 02 नवम्बर से खुलेंगे। हालांकि, आरंभ के एक माह तक हॉस्टल बंद रहेंगे। आवश्यकता होने पर दिसम्बर माह से हॉस्टलों को खोलने को लेकर निर्णय लिये जा सकते हैं। अभियांत्रिक-पॉलिटेक्निक की ऑनलाइन पढ़ाई जारी रहने की बात उन्होंने बतायी। उन्होंने बताया कि अंडर ग्रेजुएट प्रथम सेमिस्टर की पढ़ाई सोमवार और गुरुवार को होगी। तृतीय सेमिस्टर की पढ़ाई मंगलवार, बुधवार और शुक्रवार को होगी। इसी तरह पांचवें सेमिस्टर की पढ़ाई मंगलवार, बुधवार, शुक्रवार और शनिवार को होगी। शिक्षा मंत्री ने विद्यालयों के खोलने के संदर्भ में कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की। उन्होंने कहा कि पांचवीं श्रेणी तक की पढ़ाई स्कूलों में नहीं होगी। छठी कक्षा से स्कूलों में पढ़ाई होगी। इसी तरह विद्यालयों में पढ़ाई दो चरणों में होगी। सुबह 08 बजे से विद्यालय खुलेंगे। पहले चरण में सुबह 08.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक और दूसरे चरण में 01,30 बजे से 04.30 बजे तक पढ़ाई होगी। प्रतिदिन 50 फीसद पहले चरण में और 50 फीसद दूसरे चरण में विद्यार्थी कक्षाओं में उपस्थित हो पाएंगे। हिन्दुस्थान समाचार/ अरविंद-hindusthansamachar.in