दुर्गा पूजा समितियों के साथ कामरूप (मेट्रो) जिला प्रशासन की बैठक संपन्न
दुर्गा पूजा समितियों के साथ कामरूप (मेट्रो) जिला प्रशासन की बैठक संपन्न
असम

दुर्गा पूजा समितियों के साथ कामरूप (मेट्रो) जिला प्रशासन की बैठक संपन्न

news

गुवाहाटी, 15 अक्टूबर (हि.स.)। शारदीय दुर्गा पूजा के आयोजन में महज गिनती के दिन बचे हैं। दुर्गा पूजा और दशहरा को लेकर जिला प्रशासन ने भी अपनी गाइड लाइन जारी कर दी है। प्रशासन की गाइड लाइन के अनुसार, पंडाल सजाया जा सकेगा। इस अवसर पर दुर्गा पूजा सुचारू रूप से कामरूप (मेट्रो) जिला प्रशासन के सौजन्य से गुरुवार को गुवाहाटी जिला पुस्तकालय के प्रेक्षा गृह में जिला प्रशासन, पुलिस प्रसासन, गुवाहाटी नगर निगम (जीएमसी), राज्य प्रदूषण नियंत्रण परिषद, एपीडीसीएल, आपातकालीन विभाग आदि विभिन्न विभागों के उच्च अधिकारियों और गुवाहाटी दुर्गा पूजा आयोजन कमेटी के प्रतिनिधियों के साथ एक महत्वपूर्ण बैठक आयोजित की गयी। जिला उपायुक्त विश्वजीत पेगु की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में जिला और पुलिस प्रशासन ने कोविड-19 संक्रमण पर ध्यान रखते हुए दुर्गा पूजा कमेटियों को पूजा का आयोजन करने के लिए गाइड लाइन जारी किया। इस बैठक में दुर्गा पूजा के लिए जारी गाइड लाइन को लेकर विस्तृत रूप से चर्चा की गयी। बैठक में जिला उपायुक्त ने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण के चलते आने वाले शारदीय दुर्गा उत्सव पालन करने के लिए राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग के द्वारा जो निर्देश जारी किये गये हैं उसका पूजा कमेटियों को कठोरता से पालन करना होगा। उन्होंने कहा कि धर्म व आध्यात्मिक विधि विधान से पूजा करते समय सभी को कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार द्वारा दिये गये नीति नियमों का पालन करते होगा। पूजा समितियों को अपने-अपने इलाके की पुलिस प्रशासन से अनुमति लेनी पड़ेगी। गाइड लाइन के आधार पर पंडाल का निर्माण करना होगा। पूजा पंडाल में एक साथ तीस लोगों को प्रवेश की अनुमति दी गयी है। पंडाल में प्रवेश और प्रस्थान करते समय सामाजिक दूरी का पालन करना पड़ेगा। पूजा समितियों के प्रत्येक सदस्य को पुजारी व स्वयं सेवकों को देवी बोधन के पहले और दसवीं के बाद कोविड-19 का परीक्षण करना होगा। पूजा के लिए आवेदन करते समय नाम की सूची को स्थानीय पुलिस थाने में जमा करना पड़ेगा। इस दौरान किसी प्रकार के सांस्कृतिक कार्यक्रम, मेला का आयोजन नहीं किया जाएगा। पूजा पंडाल के आसपास अस्थायी दुकान लगाने की अनुमति भी नहीं दी गयी है। इस संदर्भ में जिला उपायुक्त पेगु ने कहा है कि कोरोना को रोकने के लिए सभी को सामाजिक दूरी बनाए रखना, मास्क पहनना जरूरी है। देवी विसर्जन के दिन प्रतिमा के साथ जुलूस नहीं निकाल जा सकेगा। पूजा कमेटियों के दस व्यक्ति ही देवी का विसर्जन कर सकेंगे। उल्लेखनीय है कि सरकारी निर्देशों के अनुसार पूजा के समय दो चक्का वाहन पर दो लोग सवारी नहीं कर पाएंगे। महिला और 15 साल के बच्चे के लिए यह कानून लागू नहीं होगा। गुवाहाटी पुलिस आयुक्त देवराज उपाध्याय ने इस बैठक में पूजा के समय कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिए सरकार व स्वस्थ विभाग के द्वारा बताये गये निर्देश तथा कोविड प्रोटोकॉल को मानकर पूजा करने के लिए आह्वान किया। उन्होंने कहा है कि पूजा कमेटियों को स्थानीय पुलिस थाना से अनुमति लेने के साथ जिला प्रशासन के निर्देश मानना पड़ेगा। देवी विसर्जन के समय प्रत्येक पूजा कमेटियों को प्रशासन के द्वारा बताये गये निर्देशों को मानकर प्रतिमा विसर्जित कर सकेंगे। देवी विसर्जन सुचारू रूप से संपन्न करने के लिए उन्होंने पुलिस अधिकारियों का आह्वान किया। पूजा के समय स्वयं सेवकों व सीसीटीवी कैमरा लगाना भी जरूरी है। बैठक में गुवाहाटी नगर निगम के आयुक्त घनश्याम दास, कामरूप (मेट्रो) जिला के अतिरिक्त उपायुक्त चिन्मय नाथ, अग्निशमन और आपातकालीन सेवा विभाग के साथ ही अन्य विभागों के अधिकारी मौजूद थे। हिन्दुस्थान समाचार/ देबोजानी/ अरविंद-hindusthansamachar.in