गांव पंचायत के कार्य की हो रही प्रशंसा
गांव पंचायत के कार्य की हो रही प्रशंसा
असम

गांव पंचायत के कार्य की हो रही प्रशंसा

news

मोरीगांव (असम), 27 जुलाई (हि.स.)। गांव पंचायत के संबंध में भ्रष्टाचार की खबरें आए दिन सुर्खियों में रहती हैं। इस बीच मोरीगांव जिला के मायंग गांव पंचायत के प्रतिनिधियों का प्रशंसनीय कार्य पूरे इलाके में चर्चा का विषय बना हुआ है। जिला के पोबितरा अभयारण्य का ज्यादातर हिस्सा बाढ़ में डूबा हुआ है। एक सींग वाले गैंडे, जंगली भैंस सहित अन्य जानवरों को प्रर्याप्त मात्रा में चारा नहीं मिल पा रहा है। जिसकी वजह से जानवरों को काफी मुसीबतों का सामना करना पड़ रहा है। गैंडा और जंगली भैंस सहित अन्य जंगली जानवरों के लिए बाढ़ के समय सुरक्षित क्षेत्र हाथी केम्प से लेकर टूपलूडलो तक है। जो लगभग 02 किमी लंबा है। बीते वर्ष मायंग गांव पंचायत ने हाइलैंड का निर्माण संपूर्ण किया था। मोरीगांव जिला ग्राम पंचायत और ग्राम विकास विभाग के द्वारा निर्मित हाइलैंड बाढ़ के समय जानवरों को काफी सहारा दे रहे हैं। जानवरों के लिए मायंग गांव पंचायत की ओर से चारा (घास) भी मुहैया कराया जा रहा। मायंग गांव पंचायत के प्रतिनिधियों ने कहा है कि आने वाले समय में भी जानवरों के लिए चारा मुहैया कराया जाएगा। ग्राम पंचायत के कार्य की स्थानीय लोगों के साथ ही वन विभाग और प्राकृतिक प्रेमियों ने प्रशंसा की है। हिन्दुस्थान समाचार /असरार/ अरविंद-hindusthansamachar.in