कामाख्या धाम में नवरात्रि आरंभ
कामाख्या धाम में नवरात्रि आरंभ
असम

कामाख्या धाम में नवरात्रि आरंभ

news

-नवरात्रि पर विशेष पूजा अर्चना ,कुमारी पूजा का आयोजन गुवाहाटी, 17 अक्टूबर (हि.स.)। राजधानी के नीलाचल पहाड़ स्थित विश्व विख्यात शक्तिपीठ कामाख्या धाम में शनिवार से शारदीय नवरात्र का उत्सव आरंभ हो गया। उल्लेखनीय है कि कामाख्या धाम में हर साल दुर्गा पूजा के पंद्रह दिन पहले से ही पूजा शुरू हो जाती है। इस बार करोना के चलते बीते कुछ ही दिन पहले करीब सात महीनों के बाद माता रानी के मंदिर परिसर को श्रद्धालुओं के लिए खोला गया है। हालांकि, गर्भगृह अब तक बंद है। कामाख्या में पूजा इस बार करोना के चलते सादगी से किया जाएगा। पारंपरिक रीति रिवाज के अनुसार पूजा की जाएगी। नवरात्र के अवसर पर शनिवार को मंदिर परिसर में एक विशेष पूजा-अर्चना का आयोजन किया गया। कामाख्या मंदिर में परंपरा के अनुसार शनिवार से दुर्गा पूजा शुरू हुआ। इस दौरान कुमारी पूजन भी आयोजित किया गया। कामाख्या में कुमारी पूजन का विशेष महत्व है। पहले दिन एक कुमारी की पूजा होती है, दूसरे दिन दो कुमारियों का पूजन होता हैं। इस क्रम से कुल 45 कुमारियों के पूजन का विधान है। उल्लेखनीय है कि सरकार द्वारा जारी कोरोना के दिशा निर्देश के तहत शक्ति पीठ पूजा में हो रही है। पहले की तरह इस साल भी दुर्गा पूजा के अवसर पर बलि विधान होगा। हर साल कृष्णा नवमी से ही शक्तिपीठ कामाख्या धाम में परंपरागत रूप से दुर्गा पूजा का आयोजन किया जाता है और पूजा धूमधाम से मनायी जाती है। दुर्गा पूजा के अवसर पर कामाख्या धाम में देश-विदेश से अनेकों भक्त, साधु, संतों का आगमन होता है। लेकिन, इस बार करोना के कारण सार्वजनिक समारोह को रद्द कर दिया गया है। परंपरा अनुसार मां की पूजा का आयोजन किया गया है। हिन्दुस्थान समाचार/ देबोजानी/ अरविंद-hindusthansamachar.in