असम छात्र परिषद ने मनाया पहला स्थापना दिवस
असम छात्र परिषद ने मनाया पहला स्थापना दिवस
असम

असम छात्र परिषद ने मनाया पहला स्थापना दिवस

news

-आज के छात्र समाज को राष्ट्रवाद की विचारधारा से प्रेरित होने के साथ राज्य के प्रति अपना योगदान देना चाहिए- अतुल बोरा गुवाहाटी, 21 नवम्बर (हि.स.)। असम छात्र परिषद ने शनिवार को अपना पहला स्थापना दिवस मनाया। असम गण परिषद (अगप) के सहयोगी छात्र संगठन असम छात्र परिषद का पहला स्थापना दिवस गुवाहाटी के जिला पुस्तकालय में विभिन्न रंगारंग कार्यक्रमों के साथ मनाया गया। सैकड़ों की संख्या में मौजूद छात्र-छात्राओं की मौजूदगी में आगप के अध्यक्ष तथा असम सरकार के मंत्री अतुल बोरा ने सुरक्षित व शक्तिशाली असम बनाने के लक्ष्य के लिए प्रगतिशील क्षेत्रीयतावाद के मूल मंत्र के अनुरूप पार्टी को आगे बढ़ने की बात पर जोर दिया। अतुल बोरा ने कहा कि देश में क्षेत्रवाद का महत्व बढ़ गया है। उन्होंने कहा कि यदि क्षेत्रीय हितों की रक्षा की जाती है तो देश मजबूत होगा। आज के छात्र समाज को राष्ट्रवाद की विचारधारा से प्रेरित होना चाहिए और राज्य के प्रति अपना योगदान देना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगप अपने मिशन से भटक नहीं रहा है और इस बात पर अडिग है कि असम के लोग भावनात्मक और तर्कसंगत रूप से आगे बढ़ेंगे। सभा में पार्टी के महासचिव हिरण कुमार कोंवर, मनोज सैकिया, सत्यब्रत कलिता, उपाध्यक्ष सुनील डेका, प्रचार सचिव डॉ तपन दास, युवा परिषद के अध्यक्ष जीतू बरगोहाईं के साथ ही अन्य कई वरिष्ठ नेताओं ने हिस्सा लिया। सभा से पहले सुबह दिसपुर से पांच सौ बाइक की एक जुलूस आमबारी स्थिति पार्टी कार्यालय पहुंची। अध्यक्ष अतुल बोरा ने स्वयं बाइक पर सवार होकर जुलूस का नेतृत्व किया। वहीं आमबारी कार्यालय से जिला पुस्तकालय तक एक और रंगारंग सांस्कृतिक पदयात्रा निकाली गयी। हिन्दुस्थान समाचार /देबोजानी/ अरविंद-hindusthansamachar.in