परीक्षा परिणाम के बाद जाने एक्सपर्ट की राय
शहर

परीक्षा परिणाम के बाद जाने एक्सपर्ट की राय

खास बातचीत सीबीएसई के प्रशिक्षित टेलि परामर्शदाता तथा केन्द्रीय विद्यालय संगठन के शिक्षक राजेश वशिष्ठ जी के साथ

Sunil Bhatt

सीबीएसई का वार्षिक मेगा परीक्षा परिणाम घोषणा पर्व प्रारंभ हो चुका है l  एक और जहाँ कक्षा 12 का परिणाम घोषित होने पर छात्र अपने मनपसंद कोर्स और कॉलेज के लिए दौड़ धूप करने की सोचने लगे हैं तो कुछ छात्र अपेक्षाकृत परिणाम न आने से थोड़ा निराश दिख रहे हैं l  वहीं कक्षा 10 के छात्र परिणाम की घोषणा के पश्चात किस स्ट्रीम में प्रवेश लें , इस पर चिंतनशील हैं l इन परिस्थितियों के मध्यनज़र सीबीएसई ने एक टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1800118004 जारी कर रखा है जिस पर छात्र तथा अभिभावक करियर गाइडेन्स तथा अन्य जानकारी प्राप्त कर सकते हैं साथ ही प्रशिक्षित परामर्शदाताओं से पुनर्मूल्यांकन , कोर्स , कॉलेज , व्यक्तित्व ,निर्णय क्षमता , रुचि , बुद्धिलब्धि पर जानकारी के अलावा ,बच्चों से कैसे पेश आएं , तनाव , अवसाद , निराशा , परेशानी तथा अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर परामर्श ले सकते हैं l अंकों के वेरीफिकेशन के लिए 17 से 21 जुलाई तथा उत्तरपुस्तिका की प्रति प्राप्त करने के लिए 1 अगस्त से 2 अगस्त तथा पुनर्मूल्यांकन 6 से 7 अगस्त को निर्धारित फीस भर कर ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है l

सीबीएसई के प्रशिक्षित टेलि परामर्शदाता तथा केन्द्रीय विद्यालय संगठन के शिक्षक राजेश वशिष्ठ ने बताया

1.  छात्र संय और धैर्य से काम लें l

2.  अगर छात्र अंकों से संतुष्ट नहीं हैं तो पुनर्मूल्यांकन सुविधा का लाभ उठाया सकते हैं l

3.  अपनी उत्तरपुस्तिका की प्रति भी प्राप्त कर सकते हैं l

4.  दाखिले की होड़ में न शामिल हों अपितु अपने व्यक्तित्व , रुचि , ऐप्टिट्यूड और ऐटिट्यूड को ध्यान में रखने के अलावा कॉलेज तथा कोर्स को इस प्रकार चुनें कि वह भविष्य के रोज़गार बाज़ार  में आपको स्थापित करने में सहयोग दे l

5.  इसके लिए निर्णय लेने से पहले अपने तथा उस रोज़गार के बारे में विषय अध्यापक के विचार भी जान लें क्योंकि वर्तमान या भविष्य में उनके द्वारा पढ़ाए जा रहे विषय में क्या रोज़गार की संभावनाएं हैं , वह श्रेष्ठ जानते हैं l

6.  कोई भी वर्तमान परिणाम छात्र के भविष्य के करियर का फैसला नहीं कर सकता l

7.  स्ट्रीम अथवा कोर्स वही चुनें जिसमें आप मेहनत खुशी और लगन के साथ कर सकें l

8.  कक्षा दस के छात्र के लिए मेडिकल , नॉन मेडिकल , वाणिज्य , कला संकाय के अलावा व्यावसायिक कोर्स भी बेहतर विकल्प साबित हो सकता है l

9.  इंटरनेट पर उपलब्ध जानकारी की ठोस प्रमाणिकता जान लें l

10. अभिभावक क्रोध या आवेश में आने से बचें तथा छात्रों का उत्साह बढ़ाते हुए मार्गदर्शन करें l

11. अपनी महत्वाकांक्षा छात्रों पर न थोपें l कोरोना महामारी में वह उतना ही संघर्ष कर रहे हैं जितना आप स्वयं l

12. मित्रता पूर्वक बर्ताव करें l

13. दूसरों से तुलना न करें l   

14. आवश्यकता होने पर लक्ष्य का पुनर्निर्धारण करें l

15.  कॉलेज में प्रवेश लेते समय यह जान लें कि  वहाँ के छात्रों का गुणवत्तापूर्ण रोज़गार प्रतिशत क्या है l 

16. छात्रों के खान पान तथा व्यवहार पर विशेष ध्यान दें l

वशिष्ठ जी सीबीएसई के साथ साथ लॉकडाउन डायरी मंच के माध्यम से भारत के अलावा ओमान , कुवैत , जॉर्जिया , नेपाल , श्रीलंका , कतर , बहरीन तथा संयुक अरब अमीरात में वेबिनार के माध्यम से स्वैच्छिक तथा निशुल्क परामर्श प्रदान कर रहे हैं l