बड़ी खबरें

4500 साल पूर्व गुजरात के कच्छ में होती थी गेहूं-जौ की खेती

4500 साल पूर्व गुजरात के कच्छ में होती थी गेहूं-जौ की खेती

गुजरात के कच्छ क्षेत्र में आने वाली खिरसिरा पुरातात्विक साइट में मिले अनाज के दानों के अध्ययन से पता लगा है कि आज भले ही इस क्षेत्र में पानी की जबर्दस्त कमी है जिसके चलते ज्वार बाजरा रागी जैसी ही फसलें उगाई जा पा रही हैं लेकिन हजारों वर्ष पहले गुजरात के इस क्षेत्र में जलवायु ऐसा था जिसमें गेहूं जौ जैसे अच्छे अनाज आसानी से उगाए जाते थे। बीरबल साहनी साइंसेज (बीएसआइपी) और भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) द्वारा किए गए शोध से यह जानकारी मिली है। यह शोध पत्र प्रतिष्ठित साइंटिफिक जर्नल प्लॉस में चंद रोज पहले प्रकाशित हुआ है। शोधकर्ता डॉ राजेश अग्निहोत्री बताते हैं कि इस अध्ययन
www.jagran.com
पूरी स्टोरी पढ़ें »

©Copyright Indicus Netlabs 2018. Raftaar ® is a registered trademark of Indicus Netlabs Pvt. Ltd.