कोरबा : निगम के रोका-छेका अभियान का नहीं दिख रहा असर, सड़कों पर विचरण करते नजर आ रहे मवेशी

कोरबा : निगम के रोका-छेका अभियान का नहीं दिख रहा असर, सड़कों पर विचरण करते नजर आ रहे मवेशी
korba-the-effect-of-the-corporation39s-roka-cheka-campaign-is-not-visible-cattle-are-seen-roaming-on-the-roads

कोरबा, 20 जून (हि.स.)। आयुक्त कुलदीप शर्मा ने निगम क्षेत्र के पशुपालकों, दुध डेयरी संचालकों से अपील करते हुए कहा है कि वे अपने मवेशियों को सड़कों पर खुला न छोड़ें। सड़कों पर मवेशियों के स्वच्छंद विचरण से दुर्घटना घटित होने की संभावना बनी रहती है तथा आम नागरिकों, वाहन चालकों को आवागमन में परेशानी का सामना करना पड़ता है, साथ ही मवेशियों के घायल होने का खतरा भी बना रहता है। मवेशियों को सड़कों पर खुला छोड़ देने से मवेशी सड़कों में पडे़ प्लास्टिक पॉलिथिन तथा अन्य सड़े-गले खाद्य पदार्थ को खा जाते हैं, जिससे उनके स्वास्थ पर भी गंभीर प्रभाव पड़ता है। अतः अपने मवशियों को अपने घर, खटाल आदि में ही सुरक्षित रूप से रखें। इस आदेश का शहरी क्षेत्र में होता नहीं दिख रहा अभी भी पशुपालकों द्वारा अपने मवेशियों को सड़कों पर विचरण करने के लिए छोड़ा जा रहा है। नगर निगम के द्वारा जितने जोर शोर से इस अभियान को शुरू किया गया था, उसका पालन करने में निगम के कर्मचारी असमर्थ हैं। जिससे जाहिर होता है नगर निगम के कर्मचारी आयुक्त के आदेश पर कितने गंभीर हैं। हिन्दुस्थान समाचार / हरीश तिवारी

अन्य खबरें

No stories found.