कोरबा : जिले में आरटीपीसीआर टेस्ट की कमी से जूझ रहे लोग, रिजल्ट आ रहा देरी से

कोरबा : जिले में आरटीपीसीआर टेस्ट की कमी से जूझ रहे लोग, रिजल्ट आ रहा देरी से
korba-people-struggling-with-lack-of-rtpcr-test-in-the-district-results-coming-late

कोरबा, 29 अप्रैल (हि. स.)। जिले में कोरोना की जांच को लेकर आरटीपीसीआर लैब बनाए गए हैं, लेकिन यहां ट्रेंड कर्मचारियों की तैनाती नहीं हो पाई है, जिसकी वजह से कोरबा में आरटीपीसीआर जांच नहीं हो पा रही है। यहां से सैंपल लेकर रायगढ़ भेजा जा रहा है। वहां से जांच की रिपोर्ट आने में काफी समय लग रहा है, जिससे कई बार हालात बिगड़ जाते हैं। अगर मरीज संक्रमित है तो उससे कई लोगों में संक्रमण फैलने का खतरा बढ़ जाता है। इतना ही नहीं कई बार रिपोर्ट लेट से आने पर मरीजों की स्थिति और बिगड़ जाती है। रिपोर्ट आने में लग रहा 6 से 7 दिन का समय वर्तमान में जिले कोरोना वायरस संभावित से सैंपल लेकर रायगढ़ स्थित मेडिकल कॉलेज में इसकी जांच के लिए भेजा जाता है I जहां से रिपोर्ट आने में कई बार एक हफ्ते का भी समय लग जाता है, तब तक मरीज़ कई लोगों में यह संक्रमण फैला देता है। कई मामलों में मरीज की स्थिति नाज़ुक बन जाती है। रायगढ़ में और भी कई स्थानों से सैंपल भेजे जा रहे हैं, जिसके कारण रायगढ़ के लैब पर अधिक दबाव है। जिससे जांच रिपोर्ट आने में देरी हो रही है. जब तक रिपोर्ट आती है तब तक स्थिति और नाजुक बन जाती है। कोरबा में लैब स्थापित होने से जिले के लोगों को राहत मिली है। लेकिन अभी यहां ट्रेंड कर्मचारियों की तैनाती का इंतजार हो रहा है। हिन्दुस्थान समाचार / हरीश तिवारी