korba-memorandum-submitted-to-the-governor-chief-minister-and-health-minister-through-collector-for-opening-medical-college
korba-memorandum-submitted-to-the-governor-chief-minister-and-health-minister-through-collector-for-opening-medical-college
news

कोरबा: मेडिकल कॉलेज खोलने हेतु कलेक्टर के माध्यम से राज्यपाल, मुख्यमंत्री और स्वास्थ्य मंत्री को सौंपा गया ज्ञापन

news

कोरबा .22 फरवरी (हि स) कोरबा पश्चिम मेडिकल कॉलेज संघर्ष समिति द्वारा कोरबा जिले में मेडिकल कॉलेज खोलने के लिए केंद्र सरकार द्वारा अनुमोदन किया जा चुका है, जिसके लिये विगत कुछ महीनो से उपयुक्त परिसर की तलाश की जा रही है।कलेक्टर के माध्यम से राज्यपाल और मुख्यमंत्री तथा स्वास्थ्य मंत्री को ज्ञापन सौंपा गया है। ज्ञापन में कहा गया है की कोरबा पश्चिम स्थित सर्व सुविधा युक्त एजुकेशन हब परिसर, मेडिकल कॉलेज हेतु उपलब्ध है। एजुकेशन हब परिसर भौगोलिक रूप से कोरबा जिले के मध्य स्थित है, इस परिसर में मेडिकल कॉलेज खुलने का लाभ कोरबा पश्चिम के साथ साथ छुरी, कटघोरा, बांकी मोंगरा, बलगी इत्यादि सभी क्षेत्रो को मिलेगा जो फ़िलहाल इन सुविधाओं से वंचित है। ज्ञात हो इन क्षेत्रों में लाखों की संख्या में छत्तीसगढ़ के मूल निवासी निवासरत हैं जो की पिछले कई वर्षों से अच्छी स्वास्थ्य सुविधाओं से वंचित हैं। एजुकेशन हब परिसर 300 करोड़ की लगत से बना हुआ सर्व सुविधा परिसर है, जिसमे हॉस्टल, स्टाफ क्वार्टर तथा मेस इत्यादि पूर्व निर्मित हैं। इस परिसर में मेडिकल कॉलेज प्रारम्भ करने पर राज्य शासन के करोड़ों रुपयों की बचत होगी जिसका उपयोग जनहित के अन्य कार्यों में किया जा सकता है। एजुकेशन हब परिसर मेडिकल कॉलेज के लिए जरुरी अहर्ताओं को पूर्ण करता है। 28 अक्टूबर 2020 के भारत का राजपत्र के कंडिका क्रमांक 3 के अनुसार अस्पताल से कॉलेज की दुरी 10 किमी से कम या 30 मिनट से काम होनी चाहिए। एजुकेशन हब परिसर जिला अस्पताल से 13किमी की दूरी पर है परन्तु ये दुरी 25 मिनट के भीतर पूरी की जा सकती है। ज्ञात हो की इस इस मार्ग का निर्माण कार्य 3-4 महीनो में पूर्ण हो जायेगा ततपश्चात यह दुरी 22 मिनटों में तय की जा सकती है। रिसदी क्षेत्र जहाँ नया मेडिकल कॉलेज प्रस्तावित है उस के आस पास 100 बिस्तरों का सरकारी अस्पताल, ट्रामा सेंटर, ईएसआईसी का 100 बिस्तरों का अस्पताल एवं कोरबा जिले के 2 बड़े निजी अस्पताल संचालित हैं। अतः रिसदी क्षेत्र में मेडिकल कॉलेज और अस्पताल खोलना कोरबा जिले के बाकी लोगों के साथ अन्याय ही होगा। हिन्दुस्थान समाचार / हरीश तिवारी