कोरबा : आंगनबाड़ी केंद्रों के ज़रिए हो सकेगी नौनिहालों की कुपोषण जांच

कोरबा : आंगनबाड़ी केंद्रों के ज़रिए हो सकेगी नौनिहालों की कुपोषण जांच
korba-malnutrition-check-of-naval-can-be-done-through-anganwadi-centers

कोरबा, 14 मई (हि. स.) बच्चों में कुपोषण के मामलों में कमी लाने के उद्देश्य से ज़िले के आंगनबाड़ी केंद्रों में कुपोषण जाँच हेतु मेडिकल उपकरण की व्यवस्था की जा रही है। इससे कुपोषित बच्चों की पहचान हो सकेगी तथा आयु अनुसार उनके शारीरिक विकास के मापदंडों की जाँच भी हो सकेगी। इसके अंतर्गत बच्चों मे कुपोषण के स्तर, बौनापन एवं दुर्बलता की स्थिति का आकलन करने के लिए दो से पाँच वर्ष के आयु वर्ग के लिए स्टेडिओ मीटर तथा नवजात से दो वर्ष के आयु वर्ग के लिए इंफेंटोमीटर उपकरण उपलब्ध कराए जाएंगे। यह सुविधा कोरबा जिले के लगभग 2500 आंगनबाड़ी केंद्रों में उपलब्ध होगी। एसईसीएल सीएसआर मद द्वारा वित्त पोषित उक्त परियोजना हेतु 142.18 लाख रुपये की वित्तीय सहायता एसईसीएल दीपका क्षेत्र द्वारा जिला कलेक्टर कोरबा को प्रदान की गई है । इस सम्बंध में जारी स्वीकृति आदेश के अनुसार उपरोक्त सामग्री जेम-पोर्टल के माध्यम से क्रय की जाएगी तथा मशीन के उपयोग, लाभार्थियों की संख्या, पोषकता जाँच विवरण आदि का समुचित रिकार्ड रखा जाएगा। ज़िले के ग्रामीण इलाकों में इस प्रकार की सुविधा होने से बच्चों में पोषण की समस्या को आरम्भिक रूप में ही चिन्हित करने में मदद मिल सकेगी । इसे एक महत्वाकांक्षी एवं इनोवेटिव परियोजना के तौर पर देखा जा रहा है। हिन्दुस्थान समाचार/ हरीश तिवारी