कोरबा : कोरोना संक्रमण की रफ्तार रोकने जिला प्रशासन का टेस्टिंग और वैक्सीनेशन पर फोकस

कोरबा : कोरोना संक्रमण की रफ्तार रोकने जिला प्रशासन का टेस्टिंग और वैक्सीनेशन पर फोकस
korba-district-administration39s-focus-on-testing-and-vaccination-to-stop-the-pace-of-corona-infection

कोरबा, 01 अप्रैल (हि.स.)। कोरबा जिले में कोविड संक्रमण एक बार फिर अपने पैर पसार रहा है। कोरोना संक्रमण की रफ्तार रोकने के लिए पहले की तरह ही जिला प्रशासन ने कलेक्टर किरण कौशल के नेतृत्व में गंभीरता से काम शुरू कर दिया है। इस बार प्रशासन का मुख्य टारगेट कोरोना टेस्टिंग को बढ़ाकर प्राथमिक स्तर पर ही मरीजों की पहचान कर उन्हें ईलाज उपलब्ध कराना और 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों का टीकाकरण कराना है। गुरुवार को इस संबंध में कलेक्टर कौशल ने कलेक्टोरेट सभा कक्ष में महत्वपूर्ण बैठक की। इस बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से चारों अनुविभागों के एसडीएम और मैदानी स्तर के विभिन्न विभागों के अधिकारी-कर्मचारी शामिल हुए। बैठक में कलेक्टोरेट सभा कक्ष में जिला पंचायत के सीईओ कुंदन कुमार, अपर कलेक्टर प्रिंयका महोबिया, सीएमएचओ डाॅ. बी. बी. बोडे, डिप्टी कलेक्टर आशीष देवांगन और अन्य अधिकारी भी मौजूद रहे। कोविड वैक्सीनेशन पर फोकस – बैठक में कलेक्टर कौशल ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए 45 वर्ष से अधिक आयु के सभी लोगों को कोरोना का टीका लगाने की गति बढ़ाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने आने वाले एक सप्ताह के लिए ग्राम वार, ग्राम पंचायतवार 45 वर्ष से अधिक आयु वर्ग के लोगों की पहचान कर टीकाकरण का दिन एवं स्थान निर्धारित करते हुए पूरा रोस्टर बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिए। हिन्दुस्थान समाचार / हरीश तिवारी

अन्य खबरें

No stories found.