korba-chharchhera-the-traditional-festival-of-chhattisgarh-was-celebrated-with-pomp
korba-chharchhera-the-traditional-festival-of-chhattisgarh-was-celebrated-with-pomp
news

कोरबा : छत्तीसगढ़ का पारंपरिक त्यौहार छेरछेरा पर्व धूमधाम से मनाया गया

news

कोरबा 28 जनवरी (हि.स.)। नगर सहित ग्रामीण अंचलों में गुरुवार को छत्तीसगढ़ का पारंपरिक त्यौहार छेरछेरा पर्व बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। पर्व को लेकर ग्रामीण खास कर बच्चों में काफी उत्साह देखने को मिला। लोग झोला एवं बोरी लेकर छेर छेरा मांगने के लिए अपने-अपने घरो से निकले। नगर के साथ गांव के दरवाजे पर बैठे महिलाओं- पुरुषों ने छेरछेरा के रुप में धान के साथ यथासंभव रुपए तथा घरों में बनाए पकवान भी दिया। कई घरों के लोगों ने बच्चों को चाकलेट दिया। ग्रामीण क्षेत्रों में इस त्यौहार को बड़े धूमधाम से उत्साह पूर्वक मनाते हैं। इस दिन बच्चों से लेकर बड़े बुजुर्ग घर-घर जाकर छेरछेरा के रुप में धान मांगते हैं। लोग छेरछेरा के रुप में धान के साथ यथासंभव रुपए तथा चॉकलेट, घरों में बनाए पकवान भी देते हैं। यह पर्व फसल मिसाई के बाद खुशी मनाने से संबंधित है। पर्व में अमीरी-गरीबी के भेदभाव से दूर एक-दूसरे के घर जाकर छेरछेरा मांगते हुए कहते हैं छेरछेरा माई कोठी के धान ल हेर हेरा। मान्यता है कि धान के कुछ हिस्से को दान करने से अगले वर्ष अच्छी फसल होती है। इसलिए इस दिन किसान अपने दरवाजे पर आए किसी भी व्यक्ति को निराश नहीं करते। हिन्दुस्थान समाचार / हरीश तिवारी-hindusthansamachar.in