कोंडागांव : मुख्यमंत्री ने नरवा कार्यक्रम के सफल हितग्राही जोहार नेताम का बढ़ाया हौसला

कोंडागांव : मुख्यमंत्री ने नरवा कार्यक्रम के सफल हितग्राही जोहार नेताम का बढ़ाया हौसला
kondagaon-chief-minister-encouraged-johar-netam-a-successful-beneficiary-of-narva-program

कोंडागांव, 20 जून (हि.स.)। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा रविवार को वर्चुअल लोकार्पण एवं भूमिपूजन कार्यक्रम में विभिन्न शासकीय योजनाओं के लाभांवित हितग्राहियों से आत्मीयतापूर्वक संवाद किया गया। सर्वप्रथम मुख्यमंत्री से बड़ेराजपुर निवासी कृषक जोहार लाल नेताम संवाद करते हुए बताया कि उसे खेत के समीप बुधारास नाला में बोल्डर चेक डेम का निर्माण किया गया है। जिससे पानी के जल स्तर में निरंतर वृद्धि हुई है। नरवा योजना के तहत् चेक डेम निर्माण से पहले नाले में पानी नहीं रहने से फसल बुरी तरह प्रभावित होती थी और उसे मात्र पन्द्रह से बीस हजार की आमदनी हो रही थी, परन्तु चेक डेम निर्माण उपरान्त अब वह सात एकड़ में मक्का व गेंहू की फसल ले रहा है और अस्सी से नब्बे हजार रुपये की आमदनी हो रही है। इसके साथ ही गांव के अन्य किसान भी अच्छी फसल ले रहे हैं। इस पर मुख्यमंत्री ने कृषक जोहार नेताम को हौसला बढ़ाते हुए उसकी सराहना की। इसी कार्यक्रम में बिहान की स्व-सहायता समूह की महिलाओं ने गोठान के तहत् अपनी गतिविधियों की जानकारी देते हुए कहा कि 32 सदस्यीय समूह द्वारा कुक्कूट पालन के तहत् अण्डा उत्पादन कर स्थानीय स्तर पर विक्रय और आंगनबाड़ी केन्द्रों में अण्डों को वितरित किया जाता है। इस पर मुख्यमंत्री द्वारा उन्हें विशेष रूप से शुभकामनाएं दी गई। गोधन न्याय योजना के तहत् लाभान्वित हितग्राही अशोक राय ने मुख्यमंत्री को बताया कि इस योजना के माध्यम से गोबर बेचकर उसे इस वर्ष 03 लाख 682 रुपये की आमदनी हुई। ज्ञात हो कि कोण्डागांव जिले में नरवा विकास योजना के तहत 45 नालों का चिन्हांकन किया गया है। इन नालों में 2152 कार्यों के माध्यम से सिंचाई के उन्नत संसाधन उपलब्ध कराया गया है। जिससे सिंचाई के रकबे में 215 हेक्टेयर एवं पैदावार में 6,330 क्विंटल की वृद्धि हुई है। नरवा योजना लागू होने के बाद जमीन के जल स्तर में 2,500 मिमी भू-जल में औसतन वृद्धि हुई है। नरवा योजना के अंतर्गत भू-जल स्तर में हुई वृद्धि की प्रशंसा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पूरे देश में भू-जल स्तर में वृद्धि के लिये कोण्डागांव के नरवा योजना एक मिशाल है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री द्वारा कोपाबेड़ा तलाब के संरक्षण एवं सौंदर्यीकरण की भी घोषणा की गई। मुख्यमंत्री ने जिले के निवासियों से 21 जून को होने वाले वर्चुअल योग मैराथन में शामिल होने के लिए लोगों से अपील की, साथ ही उन्होंने जिले के नंगत पिला कार्यक्रम से बच्चों में कुपोषण की दर कम होने पर हर्ष व्यक्त करते हुए इस कार्यक्रम की सराहना की। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव गुप्ता

अन्य खबरें

No stories found.