kanker-two-banners-in-the-name-of-tendupatta-sangharsh-samiti-on-the-lines-of-naxalites
kanker-two-banners-in-the-name-of-tendupatta-sangharsh-samiti-on-the-lines-of-naxalites
news

कांकेर : नक्सलियों की तर्ज पर तेंदूपत्ता संघर्ष समिति के नाम से मिले दो बैनर

news

कांकेर, 04 अप्रैल (हि.स.)। छत्तीसगढ़ के कांकेर जिला मुख्यालाय से 14 किलोमीटर दूरी पर स्थित ग्राम मर्दापोट्टी में पिछले तीन दिन से नक्सलियों की तर्ज पर लालरंग के स्थान पर हरे रंग से लिखे तेंदूपत्ता संघर्ष समिति के नाम दो बैनर बंधे हुए हैं। इसमें तेंदूपत्ता की कीमत एवं कर्मचारियों का मानदेय बढ़ाने के साथ ही जंगली जानवरों के हमले में मृत्यु होने पर 6.50 लाख रुपये, गंभीर रूप से घायल होने पर 5.50 लाख रुपये और मामूली घायल होने पर 10 हजार रुपये का मुआवजा देने जैसी बातें लिखी हुई हैं। पुलिस का कहना है कि यह बैनर नक्सलियों ने नहीं लगाया है। एक बैनर में तेंदूपत्ता का प्रति सैकड़ा कीमत पांच सौ रुपये करने और कटाई मजदूरी 400 रुपये करने के लिए आंदोलन तेज करने की बात लिखी गई है। साथ ही चपरासी, प्रबन्धक, मुंशी समेत अन्य कर्मचारियों का मानदेय बढ़ाने की भी बातें लिखी हुई हैं। वहीं गांव के दूसरी छोर पर बंधे बैनर में तेंदूपत्ता तोड़ाई के दौरान जंगली जानवरों के हमले में मृत्यु होने पर 6.50 लाख रुपये का मुआवजा, गंभीर घायल होने पर 4.50 लाख और मामूली घायल होने पर 10 हजार रुपये की मांग को लेकर संघर्ष करने की बात लिखी गई है। दोनों ही बैनर तेंदूपत्ता संघर्ष समिति के नाम से जारी किए गए हैं। इसमें नक्सलियों के किसी कमेटी का जिक्र नहीं है, लेकिन बैनर पूरी तरह से नक्सलियों की भाषा शैली में लिखे गए हैं। स्थानीय लोगों का कहना है कि आसपास के इलाकों में तेंदूपत्ता संघर्ष समिति के नाम से कोई समिति नहीं है। इससे यह आशंका व्यक्त की जा रही है कि यह बैनर नक्सलियों ने ही लगाए होंगे। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश पांडे