लंबित परीक्षाएं जुलाई से ली जाएं और सितंबर-अक्टूबर तक निकले रिजल्ट
लंबित परीक्षाएं जुलाई से ली जाएं और सितंबर-अक्टूबर तक निकले रिजल्ट
news

लंबित परीक्षाएं जुलाई से ली जाएं और सितंबर-अक्टूबर तक निकले रिजल्ट

news

वीर कुंवर सिंह, तिलका मांझी और मुंगेर विवि की शैक्षणिक गतिविधियों पर हुई बैठक कुलाधिपति के निर्देशानुसार राजभवन से वीसी के जरिये हुई बैठक में शामिल हुए 3 कुलपति पटना, 12 जून (हि.स.)। राज्यपाल सह कुलाधिपति फागू चौहान के निर्देशानुसार शुक्रवार को राजभवन से वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के जरिये राज्य के तीन विश्वविद्यालयों वीर कुंवर सिंह, आरा; तिलका मांझी भागलपुर और मुंगेर विश्वविद्यालय की शैक्षणिक गतिविधियों पर निर्धारित एजेंडे के अनुरूप बैठक हुई। इसमें परीक्षा और एकेडमिक कैलेंडर पर व्यापकता से विचार- विमर्श निर्णय लिया गया कि लंबित परीक्षाओं का आयोजन जुलाई से प्रारंभ कर दिया जायेगा और परीक्षा फल सितंबर-अक्टूबर तक प्रकाशित हो जाएंगे। सभी कुलपतियों को बताया गया कि यूजीसी की गाइडलाइन के अनुसार आवश्यक प्रक्रिया पूरी करते हुए सभी परीक्षाओं के कैलेंडर पुनर्व्यवस्थित कर परीक्षाएं ली जाएं। साथ ही बैठक में सहायक प्राध्यापकों की नियुक्तियों के लिए रोस्टर क्लीयरेंस कराते हुए रिक्तियां शिक्षा विभाग भेजने और ऑनलाइन डिग्री वितरण करने तथा नैड (नेशनल एकेडमिक डिपोजिटरी) पर इनकी अपलोडिंग के काम में भी तेजी लाने को कहा गया। इसके अलावा शिक्षक-छात्र-युक्तिकरण’ के कार्य को भी यथा शीघ्र पूरा कर लिये जाने पर विचार हुआ। आज की बैठक में कुलपतियों निर्देश दिया गया कि किसी भी परिस्थिति में किसी शिक्षण संस्थान में किसी भी पाठ्यक्रम में निर्धारित सीटों से अधिक नामांकन नहीं लिये जाएं। सीटों से अधिक नामांकन लेनेवाले संस्था प्रधानों से स्पष्टीकरण पूछते हुए उनके विरूद्ध कार्रवाई की अनुशंसा की जाये। नामांकन की संपूर्ण प्रक्रिया को ऑनलाइन ही पूरा कराने को कहा गया। बैठक में कुलपतियों को यूएमआईएस के सफल कार्यान्वयन को कहा गया। बैठक में कुलपतियों को कहा गया कि कोविड-19 की विशेष परिस्थिति की वजह, शिक्षण कार्य में आए व्यवधान को दूर करने के लिए ऑनलाइन इंटरेक्टिव लेक्चर्स की व्यवस्था को तत्परतापूर्वक संचालित किया जाए। साथ ही अधिकाधिक व्याख्यानों को विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर अपलोडिंग की जाये। इसके अलावा विश्वविद्यालय में पाठ्यक्रम पूरा करने के लिए प्रतिदिन एक घंटे अतिरिक्त शिक्षण व्यवस्था बहाल किये जाने पर विचार चल रहा है। बैठक में शामिल तीनों कुलपतियों को कहा गया कि वे यूजी प्रथम वर्ष में नामांकन कार्यक्रम इस रूप में निर्धारित करें कि बीएसईबी, सीबीएसई, आईसीएसई के उत्तीर्ण परीक्षार्थी नामांकन के लिए आवेदन कर सकें। बैठक में कुलपतियों को कहा गया कि वे जिला प्रशासन से समन्वय बनाकर एकांतवास केंद्र बनाये गये महाविद्यालय, विश्वविद्यालय भवनों के ‘सेनिटाइजेशन’ के काम को भी अपने संसाधनों का उपयोग करते हुए यथा समय पूरा करा लें ताकि इनका शैक्षणिक उपयोग आवश्यकतानुसार हो सके। बैठक में वीर कुंवर सिंह विवि के कुलपति प्रो. देवी प्रसाद तिवारी, मुंगेर विवि के कुलपति प्रो. रंजीत कुमार वर्मा और तिलका मांझी भागलपुर विवि के प्रभारी कुलपति प्रो. अजय कुमार सिंह ने भाग लिया। बैठक में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये राजभवन से राज्यपाल के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद सहित शिक्षा विभाग और राज्यपाल सचिवालय के वरीय अधिकारी शामिल हुए। हिन्दुस्थान समाचार/राजीव/विभाकर-hindusthansamachar.in