जगदलपुर : जिले में 144 लागू कर जनसुनवाई करवाकर किसे लाभ पहुंचाना चाहती है सरकार : केदार कश्यप

जगदलपुर : जिले में 144 लागू कर जनसुनवाई करवाकर किसे लाभ पहुंचाना चाहती है सरकार : केदार कश्यप
jagdalpur-whom-does-the-government-want-to-benefit-by-implementing-144-in-the-district-and-getting-public-hearings-kedar-kashyap

अब पूरे प्रदेश में कांग्रेसियो को जनता से मुंह छुपा कर भागना पड़ेगा जगदलपुर, 14 अप्रैल (हि.स.)। कोरोना के इस भीषण आपदा के बीच बस्तर जिले के ग्राम चपका में गोपाल स्पंज आयरन प्लांट के लिए जनसुनवाई रख कर किसे लाभ पहुंचाना चाहती है, सरकार को स्पष्ट करना चाहिए। एक तरफ प्रदेश में लगातार 05 दिनों से 11 हजार से ऊपर कोरोना के मरीज मिल रहे हैं। प्रदेश के अधिकांश जिलों के अस्पतालों में मरीजों के लिए जगह नहीं, मर्च्युरी में शवों के लिए जगह नहीं, अंतिम संस्कार के लिए 02-03 दिन का इंतजार करना पड़ रहा है। ऐसी आपदा बस्तर में न हो इसलिए राज्य सरकार ने पहले जिले में धारा 144 लगाई। उसके बाद ऐसी क्या स्थिति उत्पन्न हो गयी कि जनसुनवाई के लिए इतनी बड़ी संख्या में लोगों को एक जगह इकठ्ठा करना पड़ा। यह कार्य सरकार की मंशा पर सवालिया निशान लगाता है। उक्त बातें बुधवार को पूर्व शिक्षा मंत्री व भाजपा प्रदेश प्रवक्ता केदार कश्यप ने कही है। कश्यप ने कहा कि चपका में जनसुनवाई इतना ही जरूरी था तो जनसुनवाई के बाद धारा 144 लगाना चाहिए था, और यदि धारा 144 लगाई गई है तो इतनी बड़ी जनसुनवाई करके सरकार खुद ही धारा 144 का मखौल उड़ा रही है। उन्होंने कहा कि मंगलवार को चपका में हुई घटना से यह स्पष्ट हो गया है कि सरकार जनता का विश्वास खो चुकी है। कोरोना काल में जब सरकार को जनता के साथ खड़े रहना चाहिए, उस समय सरकार अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करने के बजाय जनता का ध्यान भटकाना अपने चहेतों को लाभ पहुंचाना चाहती है। चुनाव के पहले सरकार ने जो वादे किए थे वो वादे पूरे नहीं हो पाए, इसलिए जनता सरकार के प्रति अपना आक्रोश व्यक्त कर रही है। सरकार का यह कदम जनभावनाओं के साथ खिलवाड़ है। राज्य सरकार उद्योग लगाने के मुद्दे पर दोहरा मापदंड अपना रही है। इसलिए जनसुनवाई के दौरान जनता सरकार का विरोध कर रही है। यह विरोध राज्य सरकार के नीतियों और राज्य सरकार की नीयत का विरोध है। भाजपा प्रवक्ता केदार कश्यप ने कहा कि कांग्रेस सरकार को समझ लेना चाहिए कि ढाई साल के उनके कार्यकाल में यह स्थिति उत्पन्न हो गई है कि जनता के सवालों का जवाब देने के बजाय विधायक को भागना पड़ रहा है। अगर कांग्रेस सरकार ने अपनी कार्य प्रणाली नहीं सुधारी तो पूरे प्रदेश की जनता से ऐसे ही उन्हें मुह छिपाना पड़ेगा। पूर्व मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी पूरी तरह से जनता के साथ हैं और उनकी इच्छा के बिना यहां कोई कार्य नहीं होने देंगे। हिन्दुस्थानसमाचार/राकेश पांडे