jagdalpur-maycose-management-alert-on-new-form-of-corona-infection
jagdalpur-maycose-management-alert-on-new-form-of-corona-infection
news

जगदलपुर:कोरोना संक्रमण के नये स्वरूप को लेकर मेकॉज प्रबंधन अलर्ट पर

news

15 बिस्तरों का नया कोरोना वार्ड तैयार, नए स्वरूप के मरीजों को रखा जाएगा अलग जगदलपुर, 23 फरवरी(हि.स.)। कोरोना संक्रमण के नये स्वरूप का प्रभाव देश के कुछ हिस्सों में मिल रहे हैं, लेकिन बस्तर में अब तक एक भी नये स्वरूप का ऐसा मरीज सामने नहीं आया है, जिसमें नए कोरोनावाइरस की मौजूदगी दिखी हो, बावजूद इसके ऐहतियात बरतते हुए मेडिकल कॉलेज प्रबंधन ने अपनी तरफ से तैयारी पूरी कर ली है। बताया गया है कि कोरोना के पुराने वार्ड में भर्ती मरीजों के साथ नए मरीजों को नहीं रखा जाएगा। इसके लिए मेकॉज में 15 बिस्तरों का नया कोरोना वार्ड तैयार किया गया है। यदि नए मरीज की पहचान होती है तो उसे इसी वार्ड में दूसरे मरीजों से अलग रखा जाएगा। मेकॉज के ओपीडी रजिस्टर से मिली जानकारी के अनुसार इस समय साढ़े 06 सौ बिस्तरवाले मेडिकल कॉलेज अस्पताल में मौसमी बुखार, सर्दी-खांसी के अलावा अन्य बीमारी से पीडि़त मरीजों की भरमार है। अस्पताल के मेडिकल वार्ड में बिस्तर खाली नहीं है। कोरोना के नए मरीजों को ध्यान में रखते हुए पहले ही 15 बिस्तरों का नया वार्ड तैयार कर लिया गया है। जरूरत पडऩे पर इसकी संख्या बढ़ाने की भी तैयारियां कर ली गई है। कोरोना के नये स्वरूप ने जिस तरह देश के कुछ इलाकों में अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है, ऐसे में बस्तर जैसे पिछडे इलाके में सावधानी ही उपाय हो सकता है। पूर्व के अनुभवों को ध्यान में रखते हुए मेकॉज प्रबंधन तैयारियों में जुटा हुआ है। मेडिकल और पैरामेडिकल स्टाफ को भी अलर्ट मोड पर रखा गया है। मेडिकल कॉलेज डिमरापाल के कोविड इंचार्ज डॉ.नवीन दुल्हानी ने बताया कि अब तक बस्तर में एक भी मरीज में नए स्वरूप का वाइरस नहीं मिला है, ऐहतियात बरती जा रही है।नया मरीज मिला तो उसे पुराने मरीजों के साथ नही रखा जाए, यह स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं, ताकि नए नये स्वरूप के वाइरस को फैलने से रोका जा सके। हिन्दुस्थान समाचार/ राकेश पांडे