जगदलपुर:कोरोना संक्रमित नक्सली आत्मसमर्पण करते हैं, तो पुलिस उनका इलाज करवाएगी - सुंदरराज पी

जगदलपुर:कोरोना संक्रमित नक्सली आत्मसमर्पण करते हैं, तो पुलिस उनका इलाज करवाएगी - सुंदरराज पी
jagdalpur-if-corona-infected-naxalites-surrender-police-will-get-them-treated---sundararaj-p

12 से अधिक बड़े नक्सली लीडर्स को भी कोरोना होने की जानकारी जगदलपुर, 11 मई (हि.स.)। बस्तर में नक्सलियों के भी कोरोना पॉजिटिव होने की बात सामने आ रही है। दंतेवाड़ा एसपी डॉ.अभिषेक पल्लव के बाद बस्तर आईजी सुंदरराज पी ने नक्सलियों को कोरोना होने की पुष्टि करते हुए आज कहा कि 12 से अधिक बड़े नक्सली लीडर्स को भी कोरोना होने की जानकारी सूत्रों से मिली है। आईजी ने कहा कि यदि नक्सली मुख्यधारा से जुडऩे के लिए आत्मसमर्पण करते हैं, तो बस्तर पुलिस उनका इलाज करवाएगी। नक्सलियों तक किसी भी कीमत पर वैक्सीन और संक्रमित लोगों के इलाज के लिए दवाई ना पहुंचे, इसके लिए पुलिस लगातार प्रयास कर रही है। दक्षिण बस्तर के साथ-साथ उत्तर बस्तर, तेलंगाना,महाराष्ट्र के सीमावर्ती इलाकों को पूरी तरह से सील किया गया है। आईजी ने कहा कि नक्सलियों को इलाज नहीं मिल पा रहा है, ऐसे में उन तक दवाई और वैक्सीन पहुंचे, इसके जद्दोजहद में वे जरूर लगे हुए हैं, लेकिन पुलिस उनकी इस चाल को कामयाब नहीं होने देगी।उन्होंने कहा कि बस्तर संभाग के नक्सली क्षेत्रों में नाकेबंदी जारी है, इसके कारण नक्सलियों को दवाईयां और खाने के सामानों की सप्लाई नहीं हो पारही है। हमारे स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं से मेडिकल उपकरण या दवाईयां लूटने की अभी कोई वारदात नहीं हुई है। उन्होंने कहा कि यदि नक्सली मुख्यधारा से जुड़ जाते हैं और आत्मसमर्पण करते हैं, तो उनका इलाज जरूर करवाया जाएगा और पुनर्वास नीति के तहत लाभदिया जाएगा। दक्षिण बस्तर में दंतेवाड़ा, बीजापुर और सुकमा जिले आते हैं, इन इलाकों में सरकार ने भी आंध्र प्रदेश स्ट्रेन को लेकर अलर्ट जारी किया है। नक्सलियों के उसी स्ट्रेन से संक्रमित होने की संभावना जताई जा रही है। दक्षिण बस्तर में पड़ोसी राज्यों से आने वालों के लिए पूरी तरह से सीमाओं को सील करदिया गया है, यहां आने वालों के जांच के बाद ही प्रवेश की अनुमति मिल रही है। हिन्दुस्थान समाचार/ राकेश पांडे