जगदलपुर : खाद की कमी के कारण भटक रहे किसान
jagdalpur-farmers-wandering-due-to-lack-of-fertilizer

जगदलपुर : खाद की कमी के कारण भटक रहे किसान

जगदलपुर, 16 जून (हि.स.)। बस्तर जिले में कृषि ऋण में ब्याज नहीं लगने के कारण किसान सहकारी समितियों से ऋण में सबसे अधिक खाद लेते हैं। किसानों को खाद-बीज लेने में दिक्कत न हो, इसके लिए अवकाश के दिनों में भी सहकारी बैंक खुल रहे हैं। लेकिन भंडारण के अभाव में लेम्पस समितियों में खाद का स्टॉक नहीं होने के कारण किसानों को भटकना पड़ रहा है। प्राप्त जानकारी के अनुसार खरीफ सीजन के लिए 27950 मीट्रिक टन रासायनिक खाद भंडारण का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। अब तक सिर्फ 7807 मीट्रिक टन खाद का भंडारण किया गया है, जो कि आधे से भी कम है। किसानों को 3087 मीट्रिक टन खाद का वितरण किया गया है और सहकारी समितियों में सिर्फ 3820 मीट्रिक टन खाद बचा हुआ है। पिछले साल 25 हजार 888 मीट्रिक टन खाद किसानों ने खरीदा था। ऐसे में इस साल किसानों को रासायनिक खाद के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बुधवार को निजी दुकानों में किसानों की भीड़ देखी गई। किसानों ने बताया कि सहकारी समितियों में खाद का स्टॉक खत्म होंने के कारण अधिक दाम पर खाद खरीदना पड़ रहा है। सभी किसान निजी दुकानों में अधिक राशि चुकाकर खाद की खरीदी करने मजबूर हैं। कुछ समितियों में इन दिनों डीएपी का स्टॉक खत्म हो चुका है। हिन्दुस्थान समाचार/राकेश पांडे

Related Stories

No stories found.