भारतीय मूल के विवेक मूर्ती बने बाइडेन के सर्जन जनरल

भारतीय मूल के विवेक मूर्ती बने बाइडेन के सर्जन जनरल
vivek-murthy-of-indian-origin-became-surgeon-general-of-biden

वॉशिंगटन, 24 मार्च (हि.स.)। भारतीय मूल के फिजिशियन डॉ विवेक मूर्ती को राष्ट्रपति बाइडेन के सर्जन जनरल के तौर पर नियुक्त किया गया है। डॉ मूर्ती (43) दूसरी बार सर्जन जनरल बने हैं। इस पद पर नियुक्ति के बाद उन्होंने इसके लिए सीनेट का आभार प्रकट किया है। साथ ही उन्होंने कहा कि वह देश के बच्चों को बेहतर भविष्य देने पर काम करेंगे। साल 2013 में तत्कालीन राष्ट्रपति ओबामा ने डॉ मूर्ति को पहली बार सर्जन जनरल के रूप में नामित किया था। वह 37 साल की उम्र में इस पद पर काम करनेवाले सबसे कम उम्र के सर्जन बने। सर्जन जनरल के तौर पर फिर से नियुक्त होने के बाद वह नए राष्ट्रपति जो बाइडेन को कोरोना महामारी से संबंधित सलाह भी देंगे। खास बात यह कि विपक्षी रिपब्लिकन पार्टी की ओर से भी 7 सीनेट सदस्यों ने डॉ मूर्ति के पक्ष में वोट किया। डॉ मूर्ती ने कहा है कि वह सर्जन जनरल के तौर पर काम करते हुए पक्षपाती नहीं होंगे। मूर्ती मूल रूप से भारत के कर्नाटक राज्य के रहनेवाले हैं और यॉर्कशायर के हड्डर्सफील्ड शहर में उनका जन्म हुआ। वह तीन साल के थे जब उनका परिवार मायामी में चला गया। इसके अलावा डॉ मूर्ति ने डॉक्टर्स फॉर अमेरिका की स्थापना की। इस संस्था में 18 हजार से अधिक डॉक्टर और मेडिकल छात्र सदस्य हैं। .ह संगठन सस्ते में अच्छी सेवा प्रदान करता है। हिन्दुस्थान समाचार/सुप्रभा सक्सेना/ प्रभात ओझा

अन्य खबरें

No stories found.