तालिबान ने अमेरिकी हवाई हमले को दोहा समझौते का उल्लंघन बताया

 तालिबान ने अमेरिकी हवाई हमले को दोहा समझौते का उल्लंघन बताया
taliban-calls-us-airstrike-a-violation-of-the-doha-agreement

नई दिल्ली/काबुल, 24 जुलाई (आईएएनएस)। तालिबान ने शनिवार को अफगानिस्तान के कंधार और हेलमंद प्रांतों में अमेरिकी हवाई हमले को दोहा समझौते का उल्लंघन करार दिया। पझवोक न्यूज ने तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद के हवाले से एक बयान में कहा कि गुरुवार को किए गए हवाई हमले के परिणाम भुगतने होंगे। तालिबान ने अपने बयान में कहा, अमेरिकी कब्जे वाले बलों ने कंधार और हेलमंद में हवाई हमले किए हैं, जिसमें नागरिक और कुछ मुजाहिदीन हताहत हुए हैं। हमलों को बर्बर बताते हुए, आतंकवादी समूह ने उन्हें अमेरिका और तालिबान के बीच समझौते का स्पष्ट उल्लंघन बताया। बयान में कहा गया है, अशरफ गनी (राष्ट्रपति) ने हाल ही में घोषणा की है कि उन्होंने अगले छह महीनों में बड़े ऑपरेशन की योजना बनाई है। रिपोर्ट के अनुसार, संगठन ने कहा कि इस अवधि के दौरान सभी सैन्य विकास की जिम्मेदारी गनी प्रशासन के नेताओं पर आ जाएगी। मुजाहिद ने कहा कि लड़ाके अपने नियंत्रण वाले क्षेत्रों की रक्षा करेंगे। उन्होंने चेतावनी दी कि अगर सरकारी बल युद्ध पर जोर देते हैं तो विद्रोही रक्षात्मक मुद्रा में नहीं रहेंगे। तालिबान और पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन के बीच वापसी समझौते के तहत, सभी विदेशी सैनिकों को मई 2021 तक अफगानिस्तान छोड़ना था। लेकिन अप्रैल में राष्ट्रपति जो बाइडेन ने कहा कि सभी अमेरिकी सैनिकों को 11 सितंबर तक स्वदेश लाया जाएगा। यह एक ऐसा निर्णय है, जिसकी तालिबान ने कड़ी आलोचना की है। --आईएएनएस एकेके/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.