अंतर्राष्ट्रीय कृषि मेले में सर्बियाई, हंगेरियन राष्ट्रपति ने खाद्य सुरक्षा पर चिंता व्यक्त की

 अंतर्राष्ट्रीय कृषि मेले में सर्बियाई, हंगेरियन राष्ट्रपति ने खाद्य सुरक्षा पर चिंता व्यक्त की
serbian-hungarian-presidents-express-concern-over-food-security-at-international-agriculture-fair

बेंगलुरु, 22 मई (आईएएनएस)। सर्बिया और हंगरी के राष्ट्रपति अलेक्जेंडर वूसिक और प्रधानमंत्री विक्टर ओरबान ने क्रमश उत्तरी सर्बिया के एक शहर नोवी सैड में 89वें अंतर्राष्ट्रीय कृषि मेले के उद्घाटन पर क्षेत्रीय और वैश्विक खाद्य सुरक्षा पर रूस-यूक्रेन संघर्ष के प्रभाव की चेतावनी दी है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, लंबे समय तक संकट के परिणामस्वरूप दुनिया भर में भुखमरी हो सकती है, उन्होंने मजबूत कृषि के महत्व पर जोर देते हुए और दोनों देशों के बीच अधिक सहयोग का वादा करते हुए चेतावनी दी। वूसिक ने चेतावनी दी कि यदि पूर्वी यूरोप में संघर्ष नहीं रुका, तो दुनिया के लगभग एक चौथाई हिस्से को भोजन की आवश्यकता होगी, जो नई समस्याएं पैदा करेगा। उन्होंने दोनों देशों के बीच व्यापार विनिमय की प्रशंसा करते हुए कहा कि हंगरी यूरोपीय संघ के भीतर सर्बिया का दूसरा सबसे बड़ा व्यापारिक भागीदार बन गया है। ओरबान ने आश्वासन दिया कि हंगरी और सर्बिया दोनों के पास मजबूत कृषि है। हंगरी के राष्ट्रपति ने मेले में दर्शकों को बताया कि हमारे पास यूक्रेन में मुद्रास्फीति, बढ़ती कीमतें, भूख और संघर्ष है, लेकिन अच्छी खबर यह है कि वूसिक के साथ बातचीत के आधार पर, मैं कह सकता हूं कि हंगरी सर्बिया पर भरोसा कर सकता है। उन्होंने कहा कि हंगरी ब्रसेल्स में अपनाए गए आर्थिक रूप से अस्वीकार्य उपायों से सहमत नहीं है। --आईएएनएस एमएसबी/एसकेके

अन्य खबरें

No stories found.