चीन में नवीन ऊर्जा वाले वाले वाहनों का तेज विकास हो

 चीन में नवीन ऊर्जा वाले वाले वाहनों का तेज विकास हो
rapid-development-of-new-energy-vehicles-in-china

बीजिंग, 13 अक्टूबर (आईएएनएस)। दूसरी संयुक्त राष्ट्र वैश्विक निरंतर यातायात महासभा 14 से 16 अक्तूबर तक पेइचिंग में आयोजित होगी। इस महासभा में एक अहम मुद्दा है निरंतर यातायात से हरित विकास बढ़ाना। इधर के कुछ सालों में चीन निरंतर यातायात के विकास पर खास जोर दे रहा है। इसी कारण चीन में नवीन ऊर्जा वाले वाहनों का तेज विकास नजर आ रहा है। ताजा आंकड़ों के अनुसार इस सितंबर चीन में 3 लाख 57 हजार नवीन ऊर्जा वाले वाहन बेचे गये ,जो पिछले साल की समान अवधि से 1.5 गुणे से अधिक रहे। इस साल बिकने वाले नवीन ऊर्जा वाले वाहनों की संख्या 30 लाख से अधिक होने की बड़ी संभावना है । चीनी वाहन उद्योग संघ के आंकड़ों के मुताबिक इस जनवरी से इस सितंबर तक 21 लाख 57 हजार नवीन ऊर्जा वाले वाहन बिक चुके हैं। उल्लेखनीय बात है कि इस जनवरी से इस अगस्त तक चीनी नवीन ऊर्जा वाले वाहनों का निर्यात पिछले साल की इसी अवधि से 4.5 गुणे से अधिक बढ़ा। उत्पादन और बिक्री की ²ष्टि से देखा जाए चीन लगातार 6 साल तक विश्व के पहले स्थान पर रहा और वर्तमान विश्व बाजार में चीन का शेयर 50 प्रतिशत से अधिक है। संबंधित विशेषज्ञों का अनुमान है कि चीन के वाहन बाजार में नवीन ऊर्जा वाले वाहनों का अनुपात वर्ष 2025 तक 25 प्रतिशत से 30 प्रतिशत होगा और वर्ष 2030 तक 50 प्रतिशत होगा । चीन में नये ऊर्जा वाले वाहन के विकास के पीछे दो मुख्य कारण है। पहला, तेज आर्थिक विकास के साथ साथ चीन पर्यावरण संरक्षण और ऊर्जा सप्लाई में बड़ा दबाव का सामना कर रहा है। हरित विकास पर चलना चीन के लिए एक तय रास्ता है। अध्ययन के अनुसार यातायात से निकाले गये कार्बन डाइआक्साइड विश्व के कुल उत्सर्जन का 24 प्रतिशत है। यातायात प्रदूषण नियंत्रण के लिए चीन को पेट्रोल से संचालित वाहनों के बजाये नवीन ऊर्जा वाले वाहनों के विकास को बढ़ाना है। इसके अलावा,चीन ने विश्व के सामने वादा किया है कि वर्ष 2030 में चीन की कार्बन डाइऑक्साइड की शिखर आएगी और वर्ष 2060 में कार्बन डाइऑक्साइड की तटस्थता होगी। ये लक्ष्य पूरा करने और तेल जैसे ऊर्जा पर निर्भरता कम करने के लिए हरित वाहन को बढ़ाना काफी जरूरी है। दूसरा ,पेट्रोल वाहन में चीन का तकनीकी स्तर ऊंचा नहीं है, पर इलेक्ट्रॉनिक वाहन उत्पादन के क्षेत्र में चीन की तकनीक अग्रसर है और चीन का बाजार विश्व में सबसे बड़ा है। चीन इस नवोदित क्षेत्र में अपना दबदबा स्थापित करना चाहता है। चीन में नवीन ऊर्जा वाले वाहनों की नंबर प्लेट हरी है। आजकल चीन की सड़कों खासकर पेइचिंग तथा शांगहाई जैसे बड़े शहरों में हरी नंबर प्लेट वाली गाड़ियां ज्यादा देखने को मिल रही हैं। तकनीकी सृजन व सुधार से अधिकाधिक उपभोक्ताओं को नवीन ऊर्जा वाले वाहन ज्यादा पसंद आ रहा है। (साभार---चाइना मीडिया ग्रुप ,पेइचिंग) --आईएएनएस एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.