पंजशीर रेसिस्टेंस फोर्स घाटियों और गुफाओं में छिपे हैं: तालिबान

 पंजशीर रेसिस्टेंस फोर्स घाटियों और गुफाओं में छिपे हैं: तालिबान
panjshir-resistance-forces-hiding-in-valleys-and-caves-taliban

नई दिल्ली, 11 सितम्बर (आईएएनएस)। पंजशीर के सभी जिलों और प्रांतीय केंद्र पर तालिबान द्वारा कब्जा किए जाने का दावा किए जाने के पांच दिन बाद, रेसिस्टेंस फ्रंट के एक कमांडर ने एक रिकॉर्डेड वीडियो संदेश में कहा कि आतंकवादी समूह की मौजूदगी का मतलब युद्ध का अंत नहीं है। कमांडर सालेह रिगिस्तानी ने कहा कि वे तालिबान बलों से लड़ना जारी रखेंगे। टोलो न्यूज ने शुक्रवार को रिगिस्तानी के हवाले से कहा, मुझे यकीन है कि मुजाहिदीन, प्रतिरोध बल और आपके बेटे आपके मूल्यों और सम्मान की रक्षा के लिए अपनी मौत तक लड़ेंगे। राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी के नेता अब्दुल लतीफ पेद्रम ने कहा, अभी, पंजशीर प्रतिरोध का केंद्र है और सभी पहाड़ों में प्रतिरोध बल मौजूद हैं। रिगिस्तानी ने यह भी कहा कि पंजशीर में लोग भूख और दवा की कमी का सामना कर रहे हैं। तालिबान ने हालांकि कहा कि कुछ विपक्षी लड़ाके पहाड़ों पर भाग गए थे लेकिन उन्हें सामान्य जीवन में लौटने के लिए मनाने के लिए बातचीत जारी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि तालिबान के सांस्कृतिक आयोग के सदस्य अनामुल्ला समांगानी ने कहा कि तालिबान बलों ने पंजशीर के सभी हिस्सों पर कब्जा कर लिया है और किसी भी सार्वजनिक तरीके से प्रतिरोध बल वहां नहीं हैं। उन्होंने कहा, उनकी कोई सार्वजनिक उपस्थिति नहीं है, वे घाटियों और गुफाओं में छिपे हुए हैं। उनके साथ बातचीत चल रही है और हम उन्हें अपने लोगों के बीच शांतिपूर्ण और सामान्य जीवन जीने के लिए प्रोत्साहित करने का प्रयास कर रहे हैं। हालांकि र्पिोटों से संकेत मिला है कि दोनों पक्ष तीन दिवसीय अनौपचारिक युद्धविराम पर सहमत हुए हैं, लेकिन किसी भी पक्ष ने र्पिोटों की पुष्टि नहीं की है। इस बीच, ईरान के प्रतिनिधि ने पंजशीर में युद्ध को भ्रातृहत्या कह कर संबोधित किया। पंजशीर के कई निवासियों ने कहा कि लोगों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ रहा है क्योंकि प्रांत की ओर जाने वाली सड़केंअवरुद्ध हैं और दूरसंचार सेवाएं काम नहीं कर रही हैं। पंजशीर निवासी अफसाना मोहम्मदी ने टोलो न्यूज के हवाले से कहा, लोगों के पास भोजन नहीं है। बच्चों को बिजली की जरूरत है और लोग अलग-अलग इलाकों में बिखरे हुए रह रहे हैं। प्रांत के एक स्थानीय रिपोर्टर अब्दुलवासी अल्मास ने कहा, पंजशीर में दूरसंचार सेवाएं पूरी तरह से ठप हैं और बिजली की कमी एक और बड़ी समस्या है। पंजशीर पर कब्जा करने के बाद, तालिबान के एक प्रवक्ता ने कहा कि पंजशीर में जल्द ही बिजली और दूरसंचार सेवाएं होंगी और सड़कें खुल जाएंगी। --आईएएनएस एसएस/आरएचए

अन्य खबरें

No stories found.