फिलिस्तीनी राष्ट्रपति ने एनजीओ के काम में इजरायल के हस्तक्षेप की निंदा की

 फिलिस्तीनी राष्ट्रपति ने एनजीओ के काम में इजरायल के हस्तक्षेप की निंदा की
palestinian-president-condemns-israel39s-interference-in-ngo39s-work

रामल्लाह, 26 अक्टूबर (आईएएनएस)। फिलिस्तीनी राष्ट्रपति महमूद अब्बास ने वेस्ट बैंक में गैर-सरकारी संगठनों (एनजीओ) के काम में हस्तक्षेप करने पर इजरायल की निंदा की है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने डब्ल्यूएएफए की रिपोर्ट के हवाले से कहा है कि अब्बास ने यहां अपने कार्यालय में एनजीओ के प्रतिनिधियों से कहा कि इजरायल के फैसले को अस्वीकार किया गया है और निंदा की गई है। उन्होंने कहा कि सभी फिलिस्तीनी गैर सरकारी संगठनों के पक्ष में खड़े हैं। वे फिलिस्तीनियों के खिलाफ किए गए इजरायली अपराधों का दस्तावेजीकरण और खुलासा कर रहे हैं। इजरायल के रक्षा मंत्री बेनी गैंट्ज ने 22 अक्टूबर को वेस्ट बैंक में छह फिलिस्तीनी गैर सरकारी संगठनों को आतंकवादी संगठन के रूप में नामित करने का आदेश दिया है। फिलिस्तीनियों और यूरोपीय संघ ने इस फैसले की बड़े पैमाने पर निंदा की है। इजराइली मीडिया ने रिपोर्ट की थी कि गैंट्ज ने छह गैर सरकारी संगठनों को आतंकवादी संगठन घोषित किया है, यह कहते हुए कि उन्होंने फ्रंट फॉर द लिबरेशन ऑफ फिलिस्तीन (पीएफएलपी) के लिए प्रभावी ढंग से काम किया था। गैंट्ज के कार्यालय ने एक बयान में कहा, संगठन नागरिक समाज संगठनों की आड़ में सक्रिय थे, लेकिन व्यवहार में पीएफएलपी की एक शाखा (से) हैं और इसका गठन करते हैं, जिसकी मुख्य गतिविधि इजराइल का विनाश है। डब्ल्यूएएफए की रिपोर्ट के अनुसार, अब्बास ने गैर सरकारी संगठनों के प्रतिनिधियों से कहा कि फिलिस्तीनी पक्ष आधिकारिक तौर पर अंतर्राष्ट्रीय मंच पर इजरायल के फैसले का सामना करने के लिए काम कर रहा है। प्रतिनिधियों ने अब्बास से कहा कि उनके संगठन अपने कर्तव्य निभाएंगे और इजरायल के फैसले का सामना करेंगे, जो अंतर्राष्ट्रीय कानून का उल्लंघन करता है। --आईएएनएस एसजीके/एएनएम

अन्य खबरें

No stories found.